डब्ल्यू टी ओ के अधिकार को नुकसान पहुंचाने की अमेरिका की कार्यवाही विश्व बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था के खिलाफ़ उत्तेजक कार्रवाई है

2018-04-10 14:32:02

हाल ही में अमेरिकी सरकार ने 301 जांच के परिणाम के अनुसार टैरिफ़ बढ़ाने के चीनी उत्पादों की सूची जारी की और आगे टैरिफ बढ़ाने के कदम उठाने की धमकी दी है। चीन इस तरह के एकतरफावाद और व्यापार संरक्षणवाद का दृढ़ता से विरोध करता है। कई विशेषज्ञों ने कहा कि अमेरिका की ये हरकत विश्व व्यापार संगठन के सिद्धांतों और भावनाओं का उल्लंघन करती हैं, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार समुदाय के अनुबंध की भावना को नुकसान पहुंचाती हैं, वर्तमान बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था की खुले तौर पर उत्तेजक कार्रवाई भी है।

डब्ल्यू टी ओ सबसे महत्वपूर्ण समकालीन अंतरराष्ट्रीय आर्थिक संगठनों में से एक है। उसने सदस्य देशों के बीच व्यापार के लिए नियम बनाए, जिसका लक्ष्य है खुला, समानतापूर्ण और पारस्परिकता के सिद्धांत पर एक संपूर्ण, अधिक गतिशील और स्थिर बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था की स्थापना की जाए। चीन और अमेरिका डब्ल्यू टी ओ के सदस्य हैं। चीन के विदेशी अर्थशास्त्र और व्यापार विश्वविद्यालय के डब्ल्यू टी ओ अनुसंधान संस्थान के अध्यक्ष थू शिछ्वान का विचार है कि अमेरिका की 301 जांच डब्ल्यू टी ओ के सिद्धांत के विपरीत है और अनुबंध की बुनियादी भावना भी छोड़ती है।

चीनी विज्ञान अकादमी के विश्व आर्थिक और राजनीतिक अनुसंधान संस्थान के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कार्यालय के अध्यक्ष तुंग यान ने कहा कि अमेरिका के आकस्मिक रूप से डब्ल्यू टी ओ के सिद्धांत छोड़ने से विश्व बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था को बड़ा झटका लगाएगा।

(वनिता)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी