राजनीतिक रूप से सीरिया मामले का समाधान करने की अपील : अंतरराष्ट्रीय समुदाय

2018-04-15 17:31:56

स्थानीय समय के अनुसार 14 अप्रैल के तड़के सीरिया में सरकार और सेना के कई ठिकानों पर अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा तुरंत हवाई हमला किया गया। अभी तक हताहतों की संख्या और सुविधाओं के नुकसान के बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय इस पर बड़ा ध्यान दे रहा है। कुछ देशों ने तीनों देशों के सीरिया के खिलाफ़ सैन्य हमला करने का समर्थन किया। पर संयुक्त राष्ट्र और अधिकांश देशों ने संबंधित पक्षों से संयम बरतकर राजनीतिक रूप से समस्या का समाधान करने की अपील की।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 13 अप्रैल की रात अमेरिकी सेना के ब्रिटेन और फ्रांस की सेनाओं के साथ सीरियाई सरकार और सैन्य सुविधाओं पर हमला करने का आदेश दिया, जो सीरियाई सरकार के घरेलू संघर्ष के दौरान रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल करने की जवाबी कार्रवाई है। उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि जब तक सीरियाई सरकार अपने रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल करना बंद नहीं कर देती, अमेरिका उसके खिलाफ़ युद्ध करता रहेगा।

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मई ने 14 अप्रैल को घोषणा की कि इस सैन्य कार्रवाई का उद्देश्य रासायनिक हथियारों से मासूम लोगों को पहुँचने वाले नुकसान को बंद करना और रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल पर रोक लगाने पर अंतरराष्ट्रीय नियम की रक्षा करना है, जो ब्रिटेन के हितों से मेल खाता है। उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि यह कार्रवाई सीरिया के घरेलू संघर्ष में हस्तक्षेप करने और सीरिया के शासन परिवर्तन लाने के लिए नहीं है।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रॉन ने 14 अप्रैल को कहा कि इस सैन्य कार्रवाई का उद्देश्य सीरियाई सरकार के रासायनिक हथियारों का उत्पादन और इस्तेमाल करने की क्षमता को नष्ट करना है। फ्रांस और सहयोगी देश 14 अप्रैल से संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क के तहत एक अंतरराष्ट्रीय तंत्र स्थापित करेंगे, ताकि सीरियाई सरकार के घरेलू संघर्ष के दौरान रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल फिर से न किया जाए।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी