वु हान मुलाकात चीन और भारत के बीच उच्च स्तरीय आवाजाही आगे बढ़ाने का प्रतीक है

2018-04-29 17:03:00

27 और 28 अप्रैल को चीनी राष्ट्रपति शी चिन फिंग और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वु हान शहर में अनौपचारिक मुलाकात की। इसके बाद दोनों नेताओं के सिलसिलेवार कार्यवाहियों में भाग लेने वाले चीनी उप विदेश मंत्री खोंग श्यवा य्वो ने देसी-विदेशी मीडिया से कहा कि इस बार की मुलाकात से चीन और भारत के नेताओं के बीच आवाजाही का एक नया स्वरूप बनाया गया, जिसका प्रतीक है कि दोनों देशों के बीच उच्च स्तरीय आवाजाही एक नए संस्करण में प्रवेश करती है।

हालांकि दोनों नेताओं ने पहले कई बार बहुपक्षीय या द्विपक्षीय अवसरों पर मुलाकात की, लेकिन वु हान की अनौपचारिक मुलाकात का तरीका पहला है। पिछले दो दिनों में दोनों नेताओं ने 6 बार मुलाकात की, जिससे दोनों नेताओं के बीच मित्रता और विश्वास आगे बढ़ा है।

खोंग श्यवा य्वो ने कहा कि उन्होंने दोस्ताना माहौल में मुक्त रूप से विचारों का आदान-प्रदान किया। वार्ता का समय पिछली बार से ज्यादा लंबा है ,जिससे दोनों नेताओं में मित्रता और विश्वास को आगे बढ़ाया गया। दोनों नेताओं ने इस बार की अनौपचारिक मुलाकात करने का फैसला किया था, जिससे यह ज़ाहिर है कि दोनों नेता चीन और भारत के बीच उच्च स्तरीय आवाजाही पर बड़ा ध्यान देते हैं, जो विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच मेलजोल और सहयोग के लिये मार्गदर्शन की भूमिका निभाएगी।

खोंग श्यवा य्वो ने कहा कि इस तरह के एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक समय पर दोनों देशों के बीच वुहान मुलाकात से भविष्य में द्विपक्षीय संबंध के विकास और दोनों देशों के बीच सहयोग के लिए शानदार ब्लूप्रिंट को चित्रित किया गया, ठोस कार्य के लिए परियोजनाएं और कदम भी उठाए गए, जो द्विपक्षीय संबंध के विकास का नया मील पत्थर बन गया है।(वनिता)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी