भारत : एक और धूल भरी आंधी की चेतावनी, अब तक 112 मारे गये

2018-05-04 12:02:04

भारत के मौसम विभाग ने गुरुवार को अगले 48 घंटों में उत्तर प्रदेश और राजस्थान राज्यों में एक और धूल भरी आंधी की चेतावनी दी। उन्होंने अब तक कम से कम 112 लोगों के मारे जाने का दावा किया है।

अधिकारियों के मुताबिक रातोंरात धूल भरी आंधी के चलते उत्तर प्रदेश और राजस्थान दोनों राज्यों में 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

भारत के आधिकारिक प्रसारक - ऑल इंडिया रेडियो (एआईआर) ने कहा, धूल भरी आंधी की वजह से उत्तर प्रदेश में मृतकों की संख्या 74 हो गई है, जबकि राजस्थान में 38 लोगों की मौत हो गई है।

जोरदार आंधी ने बुधवार को पेड़ों और बिजली के खंभों को उखाड़ फेंका, और घरों को नष्ट करने के अलावा बिजली की आपूर्ति में बाधा डाली।

अधिकारियों ने कहा कि ज्यादातर मौतें घरों के गिरने, पेड़ गिरने और बिजली के तीव्र विस्फोट के कारण हुईं।

उत्तर प्रदेश में आधी से ज्यादा मौतों की सूचना आगरा जिले से आयी है, जबकि राजस्थान के भरतपुर जिले में सबसे ज्यादा नुकसान होनी की ख़बर मिली है।

स्थानीय लोगों ने कहा कि वे आंधी की क्रूरता के कारण डर गए थे। आगरा के एक स्थानीय निवासी अनिल श्रीवास्तव ने सिन्हुआ से कहा, "हम डर गए थे क्योंकि हवाओं ने घरों और पेड़ों की छतों को उड़ा दिया था। यह बस एक दुःस्वप्न था क्योंकि हमने पहले ऐसा कुछ नहीं देखा है।"

आपदा प्रबंधन अधिकारी भी कहते हैं कि वे आंधी की क्रूरता से चौंक गए थे।

उत्तर प्रदेश और राजस्थान में स्थानीय सरकारों ने घोषणा की है कि आंधी में सदस्य खोने वाले परिवारों को मुआवजे के रूप में 5,993 अमेरिकी डॉलर मिलेंगे।

धूल भरी आंधी के कारण हुई मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर अपना दुख व्यक्त किया। मोदी ने ट्विटर पर लिखा, "भारत के विभिन्न हिस्सों में धूल भरी आंधी के चलते जिंदगी के नुकसान से दुःख हुआ। शोकग्रस्त परिवारों के लिए शोक। आशा है कि घायल लोग जल्द स्वस्थ हो जाएंगे।" (अखिल पाराशर)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी