कार्ल मार्क्स की 200वीं जयंती मनाने की महासभा आयोजित

2018-05-04 17:02:05

4 मई को पेइचिंग के जन वृहद भवन में कार्ल माक्स की 200वीं जयंती मनाने की महासभा आयोजित हुई। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नये युग में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्यों को मार्क्स की भावना सीखना चाहिए, मार्क्सवाद के उच्च महान बैनर को पकड़कर लगातार इसमें वैज्ञानिक ज्ञान और सैद्धांतिक ताकत हासिल करना चाहिए, और मज़बूत, आत्मविश्वास से नये युग में चीन की विशेषता वाले समाजवाद का विकास करना चाहिए। मार्क्स की स्मृति मनाने का उद्देश्य मानव इतिहास में सबसे महान विचारक को श्रद्धांजलि देना है और मार्क्सवादी वैज्ञानिक सत्य पर हमारा सुदृढ़ विश्वास ज़ाहिर करना भी है।

18वीं सीपीसी कांग्रेस से शी चिनफिंग ने विभिन्न अवसरों पर कई बार मार्क्सवाद के बारे में बात कही और इस पर प्रकाश डाला। शी चिन फिंग ने पहली बार सार्वजनिक स्थान में व्यवस्थित और व्यापक रूप से मार्क्सवाद पर प्रकाश डाला।

उन्होंने कहा कि माक्सवाद हमेशा हमारी पार्टी और देश का निदेर्शक विचार है, जो विश्व को पहचानने, नियम के साथ चलने, सत्य का अनुसरण करने और विश्व को सुधारने का मज़बूत वैचारिक हथियार है। नये युग में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्यों को मार्क्सवाद सीखकर उसपर अमल करना, मार्क्सवाद का झंडा ऊँचा फहराते हुए उसमें वैज्ञानिक और सैद्धांतिक शक्ति पाना और अधिक मज़बूती, आत्मविश्वास और बुद्धि से नये युग में चीनी विशेषता वाले समाजवाद का विकास करना चाहिए ताकि मार्क्स और एंगेल्स से काल्पनिक मानव समुदाय का सुंदर भविष्य चीन की विशाल भूमि पर निरंतर दिखाने लगे।

शी चिनफिंग ने बल देते हुए कहा कि मार्क्सवाद ने न सिर्फ विश्व, बल्कि चीन को गहराई से बदला है। अभ्यासों से साबित हुआ है कि मार्क्सवाद सीपीसी, चीनी जनता और चीनी राष्ट्र की किस्मत से घनिष्ठ रूप से जुड़ी हुई है। मार्क्सवाद से ही चीन में अभूतपूर्व विकास का चमत्कार साकार हुआ है।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी