मार्क्स की 200वीं जयंती पर शी के भाषण से विदेशों में सकारात्मक प्रतिक्रिया

2018-05-05 16:02:10

कार्ल माक्स की 200वीं जयंती मनाने के लिए 4 मई को पेइचिंग में एक भव्य समारोह आयोजित हुआ ।चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने एक महत्वपूर्ण भाषण दिया ,जिसने विदेशों में व्यापक ध्यान खींचा। विदेशी मीडिया और अध्ययनकर्ताओं का कहना है कि शी चिनफिंग की नये युग में चीनी विशेषता वाली समाजवादी विचारधारा मार्क्सवाद के चीनीकरण की सबसे नवीन उपलब्धि है। विश्वास है कि चीन के अभ्यास से मार्क्सवाद के विकास को बढ़ावा मिलेगा ।उनकी प्रतीक्षा है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवाद का व्यवहार में बेहतर प्रयोग करेगी और चीन का नेतृत्व कर विभिन्न चुनौतियों का निपटारा करेगी ।

एपी ने कहा कि शी का भाषण चीन में मार्क्स की जयंती मनाने के सिलसिलेवार कार्यक्रमों में से एक है ।शी ने अपने भाषण में मार्क्स को आधुनिक काल से सबसे महान विचारक बताया ।

रॉयटर्स और ए एफपी ने अपनी मुख्य रिपोर्ट में कहा कि शी के भाषण से ज़ाहिर है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवाद पर कायम रहकर उस का विकास करेगी ।

पेरिस के आठवें विश्वविद्यालय के चीनी सवाल के अध्ययकर्ता पिरे पिक्वार्ट ने बताया कि मार्क्सवाद सौ साल पहले पैदा हुआ था ।अब विश्व की शक्ल में बड़ा परिवर्तन आया है ।लेकिन मार्क्सवाद के अनेक विचार प्रणाली आज तक सामाजिक सवालों का विश्लेषण और समाधान करने का साधन है ही ।सीपीसी जो मार्क्सवाद का झंडा ऊंचे ऊंचे फहराती है ,वह विकास का सही रास्ता है ।

(वेइतुंग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी