जल संसाधन का अनवरत प्रबंध बहुत आवश्यक है

2018-05-08 12:05:06

तीन दिवसीय जल अनुसंधान महासभा स्थानीय समयानुसार 7 मई को जिनेवा में उद्घाटित हुई। इस सम्मेलन का आयोजन विश्व मौसम संगठन और अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के सहयोग से किया गया। कई देशों के संबंधित मंत्री और संयुक्त राष्ट्र संघ के विभिन्न विभागों के प्रधान उच्च स्तरीय सम्मेलन में उपस्थित होंगे। ताकि सहयोग को मज़बूत किया जा सके, विश्व में जल अनुसंधान से जुड़ी सेवा में सुधार किया जा सके, और व्यापक, व्यावसायिक ज्ञान से सार्वजनिक और निजी विभागों से महत्वपूर्ण कदमों का समर्थन प्राप्त किया जा सके।

विश्व मौसम संगठन के अनुसार वर्तमान में जल सप्लाई का दबाव, प्रदूषण, बाढ़ आदि खतरे दिन-ब-दिन बढ़ रहे हैं। ऐसी स्थिति में विश्व जल अनुसंधान महासभा आपात मांग के आधार पर जल संसाधन के पूर्वानुमान, प्रबंध और प्रयोग का सुधार करेगी। जल अनुसंधान के सेवक और उपयोगकर्ता एक साथ इस महासभा में मौजूद हैं। वे जल से जुड़े सभी हितधारकों के बीच ज्ञान को साझा कर समन्वय को मज़बूत करने की कोशिश करेंगे। ताकि एक ऐसे मंच की स्थापना की जा सके, जो अनवरत विकास को मज़बूत करने, और आपदा के खतरे और जलवायु के परिवर्तन को कम करने के लिये सूचना पेश कर सकेगी।

चंद्रिमा

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी