अमेरिका के ईरान परमाणु समझौते से हटने पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान केंद्रित

2018-05-09 19:02:00

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 8 मई को घोषणा की कि अमेरिका ईरान परमाणु समझौते से हट जाएगा और ईरान पर फिर प्रतिबंध लगाएगा। ट्रम्प के इस निर्णय पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान केंद्रित हुआ है। कई देशों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रमुखों ने घोषणा करके अपना-अपना रुख स्पष्ट किया।

रूसी विदेश मंत्रालय ने 8 मई को कहा कि रूस अमेरिका के फैसले से बहुत निराश है। ईरान परमाणु समझौता संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा स्वीकृत महत्वपूर्ण बहुपक्षीय समझौता है, जो अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा दुनिया में शांति बनाए रखने और परमाणु प्रसार को रोकने में बड़ी उपलब्धि है। अमेरिका के इस समझौते को नष्ट करने की कोई वजह नहीं है। रूस समझौते के तहत अन्य पक्षों से संपर्क रखना और ईरान के साथ सकारात्मक सहयोग करना चाहता है।

यूरोपीय संघ के राजनयिक और सुरक्षा नीति वरिष्ठ प्रतिनिधि फ़ेडरिका मोघेरिनी ने कहा कि यूरोपीय संघ ईरान परमाणु समझौते का समर्थन करता रहेगा। उनका विचार है कि ईरान परमाणु समझौता अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सबसे महान उपलब्धियों में से एक है।

सीरियाई विदेश मंत्रालय ने घोषणा करके अमेरिका के इस निर्णय की कड़ी निंदा की। मंत्रालय ने कहा कि ट्रम्प के इस निर्णय से साबित हुआ कि अमेरिका अंतरराष्ट्रीय संधि और समझौतों की अनदेखा करता है। अमेरिका की गलत नीति से दुनिया की स्थिति में तनाव पैदा किया और क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय शांति व स्थिरता भी प्रभावित हुई है।

पर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि इजरायल अमेरिका के निर्णय का पूरा समर्थन करता है। इजरायल ने शुरू में ही इस समझौते का विरोध किया। इस समझौते में ईरान पर प्रतिबंध हटाने के प्रावधान से विनाशकारी परिणाम पैदा हुए हैं।

(नीलम)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी