ली खछ्यांग चीनी-जापानी प्रांतीय गवर्नर मंच में उपस्थित

2018-05-12 17:02:02

ली खछ्यांग चीनी-जापानी प्रांतीय गवर्नर मंच में उपस्थित

स्थानीय समय के अनुसार 11 मई को चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने होक्काइडो के सप्पोरो में चीनी और जापानी प्रांतीय गवर्नर मंच के उद्घाटन समारोह में भाग लिया और भाषण भी दिया। जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे उपस्थित हुए।

ली खछ्यांग ने कहा कि चीन और जापान महत्वपूर्ण पड़ोसी देश हैं। द्विपक्षीय संबंधों का स्वस्थ और स्थिर विकास दोनों देशों और दोनों देशों की जनता के मूल हितों से मेल खाता है। इसके साथ ही क्षेत्रीय और वैश्विक शांति, स्थिरता और समृद्धि के लिए भी मददगार सिद्ध होगा। दोनों पक्षों को आपस में संपन्न चार राजनीतिक दस्तावेज़ वाले सिद्धांत के अनुसार शांतिपूर्ण मित्रवत सहयोग की मुख्य दिशा पर आगे बढ़ते हुए मैत्री और सहयोग का विकास करना चाहिए। इस वर्ष दोनों देशों के बीच शांतिपूर्ण और मित्रवत संधि के हस्ताक्षर की 40वीं वर्षगांठ है, चीन और जापान को संधि में निर्धारित धाराओं का पालन करते हुए राजनीतिक आधार को मजबूत करना चाहिए, मैत्रीपूर्ण सहयोग की विस्तार करते हुए द्विपक्षीय संबंध को सामान्य रास्ते पर वापस लाना चाहिए, ताकि नए विकास को साकार किया जा सके और साथ-साथ एक ही दिशा पर अधिक आगे बढ़ सके।

ली खछ्यांग ने यह भी कहा कि स्थानीय आदान प्रदान और सहयोग चीन-जापान संबंध का महत्वपूर्ण भाग ही नहीं, द्विपक्षीय गैर-सरकारी मैत्री को आगे बढ़ाने वाला अहम रास्ता भी है। उनकी जापान यात्रा के दौरान दोनों देशों की सरकारों के बीच कई सहयोगी समझौते पर हस्ताक्षर किए गए, जिससे दोनों देशों के स्थानीय सहयोग और उद्योगों के बीच सहयोग के लिए अनुकूल स्थिति और गुंजाइश मुहैया करवाया गया है।

अप्रैल 2018 की शुरुआत में दक्षिण चीन के हाईनान प्रांत के बोआओ में आयोजित बोआओ एशिया मंच के वार्षिक सम्मेलन में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने स्पष्ट रुप से कहा था कि चीन में खुलापन और विस्तार किया जाएगा। ली खछ्यांग ने कहा कि इसी प्रक्रिया में चीन के स्थानीय प्रांत जापानी प्रांतों के साथ मिलकर उच्च विज्ञान और तकनीक, उच्च निर्माण और आधुनिक कृषि आदि क्षेत्रों में सहयोग करना चाहते हैं, इसके साथ ही चीन अपने देश के उच्च गुणवत्ता वाली विकास प्रक्रिया में जापानी उद्योगों की सक्रिय भागीदारी का स्वागत भी करता है, ताकि आपसी लाभ और उभय जीत प्राप्त हो सके।

जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि दोनों देशों के मित्रवत शहरों के बीच आवाजाही लगातार विकसित हो रही है, जो द्विपक्षीय शांति और मैत्री के विकास की प्रेरक शक्तियों में से एक ही नहीं, अटूट मित्रवत पुल भी बन गयी है। दोनों पक्षों को स्थानीय आवाजाही में जीवन शक्ति को और प्रेरित करते हुए जनसंख्या बुढ़ापन के मुकाबले, स्थानीय विकास और पर्यटन आदि क्षेत्रों में सहयोग को मजबूत करना चाहिए, ताकि दोनों देशों के बीच रणनीतिक आपसी लाभ वाले संबंध के विकास को आगे बढ़ाया जा सके।

(श्याओ थांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी