इजराइल में स्थित अमेरिका का नया दूतावास यरूशलेम में खुला, फिलिस्तीन-इज़राइल संघर्ष से 55 फिलिस्तीनी लोगों की मौत

2018-05-15 10:33:02

फिलिस्तीनी लोगों का जबरदस्त विरोध और अधिक देशों की निंदा को नजरअंदाज करते हुए इजराइल स्थित अमेरिका का नया दूतावास 14 मई को यरूशलेम में आधिकारिक तौर पर खुला। उसी दिन फिलिस्तीनी लोगों ने फिलिस्तीन के अधिक शहरों में विरोध-प्रदर्शन किया और इजराइली बलों के साथ संघर्ष किया। अभी तक इसमें 55 फिलिस्तीनी लोगों की मौत हो गई, जबकि 2800 से अधिक लोग घायल हुए।

उसी दिन अमेरिका के उप विदेश मंत्री जॉन सुलिवान के नेतृत्व में अमेरिकी प्रतिनिधि मंडल ने इजराइल स्थित अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन समारोह में भाग लिया। इस प्रतिनिधि मंडल में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प और डोनाल्ड ट्रम्प के दामाद जेरेड कुशनर और अमेरिकी वित्त मंत्री स्टीवन टर्नर एमनचिन शामिल थे।

इजराइली मीडिया से मिली ख़बर के अनुसार, इजराइली विदेश मंत्रालय ने इजराइल में स्थित 86 दूत मंडलों को इस उद्घाटन समारोह में भाग लेने का आमंत्रण दिया। लेकिन आधे से कम दूत मंडलों ने इस समारोह में भाग लेने की पुष्टि की।

फिलिस्तीनी लोगों ने 14 मई को गाजा क्षेत्र और जॉर्डन नदी के पश्चिमी तट पर स्थित जॉर्डन रामाल्लाह, बेथलहम, हेब्रोन, जेरिको आदि शहरों में विरोध-प्रदर्शन किया और इजराइली बलों के साथ संघर्ष किया।

उसी दिन फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने घोषणा की कि 15 मई से अगले तीन दिनों में फिलिस्तीन गाजा क्षेत्र में पीड़ितों के लिये झंडे को नीचे रखेगा।

फ्रांस, लेबनान, जॉर्डन, मिस्र आदि देशों और अरब लीग के अधिकारियों ने बयान दिया। उन्होंने अमेरिकी राजदूत के तेल अवीव-याफो से यरूशलेम में स्थानंतरित होने पर निंदा की और विरोध जताया।

(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी