नेपाल में उद्योग में एफ़डीआई की संभावना बढ़ी- नया शोध

2018-05-27 17:03:04

27 मई को काठमांडू से मिली खबर के मुताबिक नेपाल में उद्योगों में अब विदेशी निवेश के बढ़ने की संभावना बढ़ी है। इसके पीछे देश में राजनीतिक स्थिरता एक वजह बताई जा रही है। पिछले 16 वर्षों में सत्तारूढ़ दल को संसद में संपूर्ण बहुमत मिला है जो नेपाल की तरक्की के लिये वरदान है, जहां कुछ वर्ष पहले शहरों में 18 घंटे तक बिजली नहीं आती थी वहीं अब हालात बदले हैं और अब ना के बराबर बिजली जाती है जिससे उद्योग घंधों में उत्साह का माहौल है। साथ ही मज़दूरों की बेहतर स्थिति, नया औद्योगिक एक्ट, स्पेशल इकॉनामिक ज़ोन एक्ट और विदेशी निवेश ज़िम्मेदार है।

नेपाली राष्ट्रपति बिद्या भंडारी ने बताया कि अगले पांच वर्ष में उनका लक्ष्य दोहरे अंक वाली औद्योगिक गति पाना है जो अभी 5.9 फीसदी है। जिन क्षेत्रों में विदेशी निवेश की बात की जा रही है वो हैं, खेती, ऊर्जा, यातायात, आधारभूत संरचना, सूचना उद्योग, पर्यटन और नागरिक उड्डयन। हालांकि अभी भी तरक्की की राह में भ्रष्टाचार एक मुद्दा है। नेपाली कंफेडरेशन इंडस्ट्री के अध्यक्ष हरि भक्त शर्मा ने शिन्ह्वा को बताया कि बड़े और मझोले उद्योगों में निवेश का अच्छा माहौल है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस क्षेत्र में चीन से ज्यादा उम्मीदें हैं।

नेपाल के उद्योग विभाग के मुताबिक नेपाल में वर्ष 2016- 17 में 137.30 मिलियन अमेरिकी डॉलर का निवेश हुआ है जिसका 58 फीसदी हिस्सा चीन ने किया है। नेपाल में इस समय दो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों का निर्माण चल रहा है जिसके बाद उम्मीद है कि भारी संख्या में विदेशी पर्यटक यहां आएँगे। एफएनसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष पशुपति मुरारका ने बताया कि राजनीतिक स्थायित्व के बाद अब नेपाल में गवर्नेंस और ढेर सारे टैक्स से निपटना मुख्य मुद्दा है।

(पंकज श्रीवास्तव)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी