चीन-अमेरिका आर्थिक व व्यापारिक वार्ता पर मीडियाओं की समीक्षाएं

2018-06-03 19:05:07

2 से 3 जून को चीन और अमेरिका ने पेइचिंग में द्विपक्षीय आर्थिक व व्यापारिक वार्ता में कुछ उपलब्धियां हासिल कीं। चीनी अख़बार इकोनॉमिक डेली और ग्लोबल टाइम्स ने अलग अलग तौर पर समीक्षाएं जारी कर कहा कि सुधार व खुलेपन और अंदरुनी मांग का विस्तार करना देश की रणनीति है। चीन की यह निश्चित नीति कभी नहीं बदलेगी। दोनों को मिलकर उपलब्धि केक बनाने की कोशिश करनी चाहिए, लेकिन अमेरिका को अवास्तविक सोच-विचार नहीं करना चाहिए।

इकोनॉमिक डेली की समीक्षा में चीन में सुधार व खुलेपन की नीति नहीं बदलने के तीन कारण बताए गए। पहला, यह चीन के खुद के विकास की यथार्थ आवश्यकता का जरूरी विकल्प है। आयातित माल चीनी बाजार की अहम आपूर्ति है। आयातित मालों की चीनी उपभोक्ताओं की भारी मांग भी है। दूसरा, यह चीन द्वारा आपसी लाभ व साझी जीत के विकास विचारधारा का प्रतिबिंब है। 2017 के बाद विश्व अर्थतंत्र ने पुनरुत्थान के रास्ते में प्रवेश किया, लेकिन संरक्षणवाद भी नजर आया है, जिस ने विश्व के आर्थिक पुनरुत्थान को सीधी धमकी दी है। चीन द्वारा आयात का विस्तार करने का कदम उठाने से यह जाहिर है कि चीन सरकार विश्व के लिए चीनी बाजार को खोलना चाहती है। इसने चीन के आर्थिक भूमंडलीकरण को आगे बढ़ाने का कर्तव्य दिखाया है। तीसरा, हालिया चीन-अमेरिका आर्थिक व व्यापारिक वार्ता की पृष्ठभूमि में देखा जाए, तो हम स्पष्ट रूप से यह देख सकते हैं कि चीन के नये दौर के उच्च स्तरीय खुलेपन को आगे बढ़ाने का दृढ़ संकल्प है।

ग्लोबल टाइम्स की समीक्षा में बताया गया कि चीन और अमेरिका ने आर्थिक व व्यापारिक समस्या पर वार्ता करते समय कुछ प्रगतियां हासिल की हैं, जिस ने द्विपक्षीय आपसी लाभ वाले सहयोग को मजबूत करने के लिए संभावनाएं तैयार की हैं। दोनों देशों के आर्थिक जगत देख पाते हैं कि एक भारी केक बनाया जा रहा है। यदि हम वाशिंग्टन सहमति का कार्यान्वयन करते हैं, तो दोनों देशों और दोनों देशों की जनता के लिए लाभदायक है और सच्ची साझी जीत हासिल की जा सकेगी।

समीक्षा में यह भी बताया गया कि वार्ता की जटिलता से यह भी साबित हुआ है कि अमेरिका की नीति में अनिश्चिता अभी भी मौजूद है। अमेरिका में कुछ लोग बड़े केक के अलावा अपने लिए कुछ हित पाना चाहते हैं। यह अवास्तविक है। एक बार फिर अमेरिका चीनी उत्पादकों पर टैरिफ़ बढ़ाने जैसे कोई भी व्यापारिक कार्यवाई करता है, तो दोनों के बीच पहले संपन्न सभी समझौता प्रभावी नहीं होंगे। तो चीन-अमेरिका सहयोग का बड़ा केक भी लापता हो जाएगा।

(श्याओयांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी