भारत सरकार ने 1 अरब 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर वाले अंतरिक्ष कार्यक्रम को मंजूरी दी

2018-06-07 15:03:00

6 जून को भारत सरकार ने 1 अरब 50 करोड़ अमेरिकी डॉलर वाले अंतरिक्ष कार्यक्रम को मंजूरी दी। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य भारी उपग्रह छोड़ने में विदेशी स्पेसपोर्ट्स पर निर्भरता कम करना है।

प्रधान मंत्री कार्यालय के राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने मीडिया को बताया कि मंत्रिमंडल ने अगले चार साल में 10 बार जीएसएलवी एमके थ्री प्रक्षेपित करने की पुष्टि की है। इसके साथ हम अंतरिक्ष में चार टन भार वाले उपग्रह छोड़ सकेंगे।

उन्होंने कहा कि यह एक बड़ी छलांग होगी, क्योंकि भारत अब अधिक भारी उपग्रह छोड़ने में विदेशी स्पेसपोर्ट्स पर निर्भर नहीं रहेगा।

उनके अनुसार जीएसएलवी एमके थ्री कार्यक्रम एक स्वदेशी कार्यक्रम है, जिससे भारतीय स्पेस एजेंसी चार टन से अधिक भारी विदेशी उपग्रह छोड़ सकेगा।

इस फरवरी में भारत ने श्री हारिकोटा में एक मिशन में 31 उपग्रह छोड़ने में सफलता पायी थी।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी