ली खछ्यांग ने किर्गिजस्तान के राष्ट्रपति से मुलाकात की

2018-06-08 15:02:02

चीनी प्रधानमंत्री ली खछ्यांग ने 7 जून को दिआओयुताई राज्य अतिथिगृह में चीन की राज्य यात्रा करने और शांगहाई सहयोग संगठन के छिंगताओ शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले किर्गिज़स्तान के राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव से मुलाकात की।

ली खछ्यांग ने कहा कि चीन-किर्गिज़स्तान संबंध की स्थापना की 26 सालों में दोनों पक्ष आपसी सम्मान और सहयोग और आम-जीत बनाए हुए हैं। दोनों देशों के बीच संबंध का महान विकास हुआ है। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और राष्ट्रपति सूरोनबे जीनबेकोव ने चीन-किर्गिज़स्तान सर्वांगीण रणनीतिक साझेदारी की स्थापना की संयुक्त घोषणा की। दोनों पक्षों के बीच संबंध एक नये चरण में प्रवेश करेगा। चीन और किर्गिज़स्तान दोनों देशों की अर्थव्यवस्थाओं की संपूरकता बड़ी है। दोनों पक्षों के बीच सहयोग की संभावना व्यापक है। चीन किर्गिज़स्तान से सहयोग की संभावना का विकास करना और उत्पादन क्षमता, इंटरकनेक्शन, वित्त जैसे क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ाना चाहता है। साथ ही चीन किर्गिज़स्तान में उच्च गुणवत्ता वाले कृषि उत्पादों का आयात का विस्तार करना चाहता है। इसीलिये दोनों पक्षों के बीच आर्थिक और व्यापार संबंधों का संतुलित विकास कर सकेगा। इसके अलावा चीन चीनी कंपनियों को किर्गिज़स्तान में निवेश करने को प्रोत्साहित करता है। उम्मीद है कि शांगहाई सहयोग संगठन के ढांचे में दोनों पक्ष सहयोग को आगे मज़बूत और क्षेत्रीय आर्थिक सहयोग स्तर की वृद्धि कर सकेंगे।

सूरोनबे जीनबेकोव ने कहा कि चीन में सुधार और खुलेपन की 40 वर्षों में उल्लेखनीय उपलब्धि मिली है। चीन ने विश्व विकास पर सकारात्मक और महत्वपूर्ण प्रभाव डाला। चीन किर्गिज़स्तान सर्वांगीण रणनीतिक साझेदारी की स्थापना दोनों देशों के संबंधों के इतिहास में एक मील का पत्थर है, जिसने दोनों देशों के संबंधों के विकास में नयी शक्ति डाली है। किर्गिज़स्तान चीन से रणनीतिक डॉकिंग करना चाहता है। किर्गिज़स्तान दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग की निरंतरता को बनाए रखेगा।(हैया)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी