भारत व पाकिस्तान एससीओ के शिखर सम्मेलन के सफल आयोजन की प्रतीक्षा में हैं

2018-06-09 10:32:03

शांगहाई सहयोग संगठन के छिंगताओ शिखर सम्मेलन में भारत व पाकिस्तान ने पहली बार औपचारिक सदस्य देशों की हैसियत से भाग लिया। दक्षिण एशिया के दो महत्वपूर्ण देशों के रूप में भारत व पाकिस्तान भविष्य में अच्छी तरह से इस क्षेत्रीय बहुपक्षीय व्यवस्था में शामिल करके एससीओ की मंच से और विकास प्राप्त करने की बड़ी प्रतीक्षा में हैं। भारत व पाकिस्तान के विभिन्न जगत इस बार के छिंगताओ शिखर सम्मेलन पर बड़ा ध्यान देते हैं।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री शौकत अज़ीज़ ने अपने कार्यकाल के दौरान गहन व सक्रिय रूप से पाकिस्तान को एससीओ में शामिल करने को बढ़ावा दिया। उन के ख्याल से पाकिस्तान एससीओ में भाग लेने के बाद कई पक्षों में सकारात्मक भूमिका अदा करेगा।

भारतीय वरिष्ठ मीडिया कर्मचारी मालान के विचार में एससीओ भारत को एक बहुत अच्छा बहुपक्षीय मंच तैयार करेगा। भारत के प्रति एससीओ में भाग लेने की आवश्यकता है। यह न सिर्फ़ चीन व भारत दोनों देशों के लिये लाभदायक होगा, बल्कि पूरे एशिया को भी इससे लाभ मिलेगा।

भारत के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के अंतर्राष्ट्रीय संबंध कॉलेज के प्रोफेसर स्वर्ण सिंह ने कहा कि एससीओ एक बहुपक्षीय व्यवस्था है। भारत व चीन और भारत व पाकिस्तान के द्विपक्षीय संबंध एससीओ के मंच से आगे बढ़ सकेंगे। अगर हम एक व्यवस्था के तले क्षेत्रीय व अंतर्राष्ट्रीय मामलों का विचार कर सकेंगे, तो सहमतियां आसानी से प्राप्त करेंगे, और आपसी संबंध भी आगे बढ़ सकेंगे। (चंद्रिमा)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी