जी-8 में वापस जाने का दावा कभी नहीं किया :रूस

2018-06-10 16:02:09

रूस ने जी-8 में वापस जाने का दावा कभी नहीं किया। रूसी विदेश मंत्री सेर्गेई लावरोव ने 9 जून को रूस के चैनल एक टीवी स्टेशन के लाइव शो में यह बात कही।

सेर्गेई लावरोव ने कहा कि जब रूस के पश्चिमी दोस्तों ने जी-8 के बजाए जी-7 में भाग लेना तय किया, तो रूस ने इस फैसले का स्वागत किया। वर्तमान में रूस एससीओ और ब्रिक्स विशेषकर जी-20 में अच्छा काम कर रहा है।

8 जून की सुबह अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने कनाडा में जाकर जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेना आरंभ किया। उस समय ट्रम्प ने संवाददाताओं से कहा कि जी-7 को रूस को स्वीकार करना चाहिए। रूस ने जवाब दिया कि रूस अन्य तरीकों के सहयोग पर और ज्यादा ध्यान देता है।

वर्ष 1997 अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, जापान, इटली और कनाडा समेत 7 देशों का समूह यानी जी-7 ने रूस को स्वीकार किया। वर्ष 2014 यूक्रेनी संकट शुरु करने के बाद इन सातों देशों ने रूस को जी-8 में ठहरने और जी-8 संबंधी बैठकों का आयोजन करने से इनकार किया। उन्होंने जी-7 शिखर सम्मेलन को फिर से शुरु किया।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी