अमेरिका से कुछ आयातित वस्तुओं पर टैरिफ बढ़ाने का विश्लेषण - चीनी शुल्क टैरिफ आयोग के प्रधान

2018-06-16 16:32:01

चीनी शुल्क टैरिफ आयोग के संबंधित अधिकारी ने 16 जून को कहा कि 15 जून 2018 को अमेरिकी सरकार ने घोषणा की कि अमेरिका चीन से आयातित लगभग 50 अरब अमेरिकी डॉलर की वस्तुओं पर 25 प्रतिशत टैरिफ बढ़ाएगा। जिसमें से 34 अरब अमेरिकी डॉलर की वस्तुओं पर 6 जुलाई 2018 से टैरिफ बढ़ाया जाएगा और बाकी 16 अरब अमेरिकी डॉलर के वस्तुओं पर टैरिफ बढ़ाने के बारे में सार्वजनिक राय मांग रहा है। अमेरिका का यह कदम विश्व व्यापार संगठन के प्रासंगिक नियमों का उल्लंघन है और चीन-अमेरिका के बीच आर्थिक और व्यापार वार्ता में प्राप्त सहमतियों के विपरीत भी है। यह चीन के वैध अधिकारों का गंभीरता से उल्लंघन करता है। इसके साथ यह चीन और चीनी लोगों के हितों को नुकसान भी पहुंचाता है। चीन दृढ़ता से इसका विरोध करता है।

अमेरिका के चीन से आयातित 50 अरब अमेरिकी डॉलर की हजारों वस्तुओं पर 25 प्रतिशत टैरिफ बढ़ाने से अमेरिका में इन वस्तुओं के व्यापार शर्तों को काफी हद तक बदलेगा और इन वस्तुओं के उत्पादन और व्यापार उद्यमों और उनके अपस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम सहयोगियों के उत्पादन और व्यापार पर भी प्रभावित होगा। अमेरिका के अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों के उल्लंघन से चीन में आपात स्थिति के संबंध में चीन ने अंतर्राष्ट्रीय कानून के बुनियादी सिद्धांत के अनुसार "पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना विदेश व्यापार कानून"," पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना आयात और निर्यात टैरिफ विनियम" जैसे कानूनों और विनियमों के तहत अमेरिका से आयातित समान राशि के वस्तुओं पर समान स्तर के टैरिफ बढ़ाने का फैसला किया। जो अपने वैध अधिकारों और हितों की रक्षा करने के लिए है।

गौरतलब है कि अमेरिका ने कहा कि यदि चीन प्रतिशोधत्मक उपाय करता है तो अमेरिका अतिरिक्त टैरिफ जोड़ना जारी रखेगा। इस संबंध में चीन भी इसी उपायों को लेने का अधिकार सुरक्षित रखेगा।(नीलम)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी