चीन-भारत संबंधों को "5-सी" की मदद से बढ़ावा दिया जाए : भारत स्थित चीनी राजदूत

2018-06-19 15:32:02

चीनी राजदूत लुओ चाओहोई ने सोमवार को कहा कि चीन-भारत संबंधों को "5-सी" - संचार, सहयोग, संपर्क, समन्वय और नियंत्रण की मदद से बढ़ावा दिया जा सकता है।

एक सेमिनार में बोलते हुए - "वुहान से परे: चीन-भारत संबंध कितने दूर और तेज जा सकते हैं", चीनी राजदूत ने कहा कि दोनों पक्षों को सरकार, सैन्य और विधायिका के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच आदान-प्रदान मजबूत करने की जरूरत है।

अप्रैल के अंत में चीन के मध्य शहर वुहान में हुई चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच अनौपचारिक बैठक के बाद चीन-भारत संबंधों के वर्तमान परिदृश्य पर चर्चा के लिए इस संगोष्ठी का आयोजन किया गया। यह संगोष्ठी चीन के पूर्वी बंदरगाह शहर छिंगताओ में हुए एससीओ शिखर सम्मेलन के बाद हुई है।

चीनी राजदूत ने इस तथ्य को रेखांकित किया कि पिछले चार वर्षों के दौरान दोनों नेताओं ने विभिन्न अवसरों पर आमने-सामने बैठकर बैठक की है।

व्यापार मोर्चे पर, उन्होंने कहा कि चीन व्यापार संबंधों का विस्तार करने के लिए भारत के साथ "क्षेत्रीय व्यापार व्यवस्था" पर बातचीत करना चाहता है। उन्होंने कहा, "हम नए औद्योगिक पार्कों और हाई-स्पीड रेलवे जैसी प्रमुख परियोजनाओं पर आर्थिक सहयोग को प्रोत्साहित कर सकते हैं।"

दोनों पक्षों के बीच बेहतर लोगों से लोगों के संपर्कों का प्रस्ताव देते हुए, चीनी राजदूत ने कहा, "हमें फिल्म, खेल, पर्यटन, संग्रहालय और युवाओं के क्षेत्रों में आदान-प्रदान बढ़ाने के लिए उच्चस्तरीय लोगों से लोगों और सांस्कृतिक विनिमय तंत्र पर जोर देना चाहिए।"

अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर समन्वय की वकालत करते हुए, लुओ ने कहा कि दोनों देशों को एससीओ, ब्रिक्स, जी-20 जैसे प्लेटफार्मों में सहयोग बढ़ाने और वैश्विक आर्थिक एकीकरण, मुक्त व्यापार और बहुपक्षवाद बनाने के लिए वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए हाथ मिलाना चाहिए।

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी