क्यूबा और भारत आर्थिक संबंधों को गहरा बनाने पर सहमत

2018-06-23 16:03:05

क्यूबा के राष्ट्रपति मिगुएल डायज-कैनेल ने अपने भारतीय समकक्ष राम नाथ कोविंद के साथ शुक्रवार को मुलाकात की, जो आर्थिक और व्यावसायिक संबंधों को गहरा बनाने के लिए द्वीप की आधिकारिक यात्रा पर हैं।

गुरुवार को द्वीप में आने वाले कोविंद को निजी तौर पर बातचीत करने से पहले क्रांति महल में सैन्य सम्मान के साथ डायज-कैनेल ने स्वागत किया।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, दोनों नेता "एकजुटता और मैत्रीपूर्ण संबंध" विकसित करने के लिए सहमत हुए और अपने राष्ट्रों के कल्याण के लिए सहयोग को बढ़ावा देने पर सहमति जतायी। विज्ञप्ति के मुताबिक, डायज-कैनेल और कोविंद ने आर्थिक सहयोग और निवेश को बढ़ावा देने के साथ-साथ विज्ञान और प्रौद्योगिकी और नवीकरणीय ऊर्जा में सहयोग बढ़ाने में विशेष रूचि व्यक्त की।

कोविंद और डायज-कैनेल ने जैव प्रौद्योगिकी और हेल्थकेयर के क्षेत्रों में तीन नए सहयोग समझौतों पर हस्ताक्षर किए।

समारोह में, पारंपरिक दवा और होम्योपैथी में सहयोग बढ़ाने के लिए क्यूबा और भारत के स्वास्थ्य मंत्रालयों ने समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये। इस बीच, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालयों के अधिकारी जैव प्रौद्योगिकी पर सहयोग को गहरा बनाने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर सहमत हुए।

इस संदर्भ में, भारत के कलाम इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ टेक्नोलॉजी के साथ, फार्मास्युटिकल और बायोटेक्नोलॉजी उत्पादों के लिए द्वीप की राज्य कंपनी बायो क्यूबाफार्मा के बीच प्रयोजन-पत्र पर हस्ताक्षर किया गया।

इससे पहले, कोविंद ने हवाना के क्रांति चौक में एक फूल पुष्पहार लगाकर द्वीप के राष्ट्रीय नायक, जोस मार्टि को श्रद्धांजलि अर्पित की। उन्होंने फेफड़ों और त्वचा के कैंसर से लड़ने के साथ-साथ मधुमेह के कारण पैर अल्सर से लड़ने के लिए अभिनव दवाओं के बारे में जानने के लिए क्यूबा के मुख्य जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान केंद्र का भी दौरा किया।

(अखिल पाराशर)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी