मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्रों की अस्थिरता समाप्त करने की चाबी है विकास

2018-06-26 16:32:01

25 जून को संयुक्त राष्ट्र संघ स्थित स्थायी चीनी उप प्रतिनिधि वू हाईथाओ ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को अनवरत विकास को आगे बढ़ाना चाहिए और मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्र की डांवाडोल स्थिति को जड़ से नष्ट करना चाहिए। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को वार्तालाप व सलाह मश्विरे पर कायम रहकर मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्र के गर्म सवालों के राजनीतिक समाधान को आगे बढ़ावा देना चाहिए।

उसी दिन वू हाईथाओ ने सुरक्षा परिषद में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय शांति व सुरक्षा समस्या की खुली बैठक में कहा कि युद्ध व मुठभेड़, आतंकवादी, शरणार्थी संकट आदि समस्याओं की जड़ गरीबी है। विकास सभी समस्याओं का हल करने की चाबी है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्र के देशों के स्वेच्छा से अपने देश की स्थिति से मेल खाने वाले विकास रास्ते का समर्थन करना चाहिए। वू ने कहा कि फिलिस्तीन समस्या मध्य पूर्व समस्या की प्रमुख समस्या है, इसलिए हमें दो देशों के प्रस्ताव पर कायम रहकर संयुक्त राष्ट्र संघ के संबंधित प्रस्ताव के आधार पर जल्द ही शांति वार्ता की बहाली करनी चाहिए। वू ने कहा कि सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देश होने के नाते चीन हमेशा न्यायपूर्ण रवैये से मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीकी क्षेत्र के गर्म समस्याओं का हल करने में रचनात्मक भूमिका अदा करता रहता है। चीन इस क्षेत्र के देशों की प्रभुसत्ता, स्वतंत्रता, एकता और प्रादेशिक अखंडता का सम्मान करता है। चीन एक पट्टी एक मार्ग आह्वान के ढांचे के जरिए इस क्षेत्र के विभिन्न देशों के यथार्थ सहयोग को मजबूत करना चाहता है, ताकि क्षेत्रीय विकास और समृद्धि को साकार करने के लिए योगदान दिया जा सके।

(श्याओयांग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी