चीन और अमेरिका को पारस्परिक सम्मान और सहयोग ,साझी जीत के सिद्धांत पर संबंधों का विकास बढ़ाना चाहिएः शी चिनफिंग

2018-06-28 11:04:04

27 जून को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पेइचिंग में यात्रा पर आये अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस से मुलाकात के समय कहा कि चीन और अमेरिका को पारस्परिक सम्मान और सहयोग, साझी जीत के सिद्धांत पर संबंधों का विकास बढ़ाना चाहिए। दोनों देशों के बीच मौजूद समात हित होने के बावजूद हम मतभेदों को भी ध्यान में रखते हैं। चीन की प्रभुसत्ता और प्रादेशिक अखंडता से जुड़े सवालों पर चीन का रुख़ सुदृढ़ और स्पष्ट है। पूर्वजों से विरासत में मिली एक ही इंच की भूमि खोने नहीं दी जाएगी और दूसरे की कोई भी चीज हम नहीं चाहते।

उन्होंने कहा कि चीनी जनता आधुनिक और शक्तिशाली समाजवादी देश का निर्माण करेगी ,पर चीन विस्तारवाद और उपनिवेशवाद के बजाये शांतिपूर्ण विकास के रास्ते पर चलेगा और विश्व में हडबड़ी नहीं मचाएगा।

चीन-अमेरिका संबंधों की चर्चा में शी चिनफिंग ने कहा कि विशाल प्रशांत महासागर चीन, अमेरिका और अन्य देशों को समा सकता है। चीन-अमेरिका संबंधों का अच्छा विकास विश्व शांति, स्थिरता और समृद्धि के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है और दोनों देशों और उनकी जनता को लाभ पहुंचाएगा।

शी ने कहा कि दोनों सेनाओं के संबंध दोनों देशों के संबंधों का महत्वपूर्ण अंग है। आशा है कि दोनों सेनाएं संपर्क ,विश्वास और सहयोग मज़बूत करने के साथ मतभेद नियंत्रित करेंगी और इनके संबंधों को दो देशों के संबंधों का नियंत्रक बनाएंगी।

मैटिस ने कहा कि अमेरिकी पक्ष दोनों सेनाओं के संबंधों को बड़ा महत्व देता है और दोनों राज्याध्यक्षों के अहम समानताओं के मार्गदर्शन में रणनीतिक संपर्क मज़बूत करना ,पारस्परिक सहयोग का विस्तार करना और मतभेद नियंत्रित करना चाहता है ताकि दोंनों पक्ष मुठभेड़ और मुकाबले से बचें और सेनाओं का संबंध आपसी संबंधों में रचनात्मक तत्व बने। (वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी