यमन में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत की मध्यस्थता सफल नहीं

2018-06-28 14:33:05

संयुक्त राष्ट्र संघ के यमन समस्या के विशेष दूत मार्टन ग्रिफिथ्स ने 27 जून को यमन की अस्थायी राजधानी अदेन की अल्पकालिक यात्रा की। लेकिन उनकी मध्यस्थता में कोई प्रगति नहीं मिली।

यमन सरकार के एक अधिकारी ने पत्रकार से कहा कि उसी दिन ग्रिफिथ्स ने यमन के राष्ट्रपति और कुछ सरकारी अधिकारियों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि होथी रेबेल्स ने होदेईदाह बंदरगाह को संयुक्त राष्ट्र संघ को प्रबंध के लिए सौंपने पर मंजूरी दी, लेकिन होदेईदाह के अन्य क्षेत्र होथी रेबेल्स के नियंत्रण में रहेंगे। लेकिन यमन के राष्ट्रपति अबदु रबिह मेनसुर हादे ने इस सुझाव को ठुकरा दिया और होथी रेबेल्स से बंदरगाह समेत होदेईदाह के सभी क्षेत्रों से पूर्ण रूप से हटाने की मांग की, नहीं तो आने वाले कई दिनों में सरकार होथी विद्रोहियों के खिलाफ़ सैन्य कार्यवाई करेगी।

यमन के विदेश मंत्रालय ने भी उसी दिन वक्तव्य जारी कर कहा कि होथी विद्रोहियों को होदेईदाह शहर से पूर्ण रूप से हटाए जाने की जरूरत है।

गौरतलब है कि होदेईदाह बंदरगाह यमन का महत्वपूण यातायात हब और होथी विद्रोहियों के बाहरी दुनिया से संपर्क करने का अहम रास्ता है। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा होथी विद्रोहियों के नियंत्रित क्षेत्र में मानवीय राहत देने का एकमात्र रास्ता भी। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र संघ के अधिकारी ने चेतावनी दी कि होदेईदाह पर प्रहार करने से मानवीय संकट पैदा होगा।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी