अमेरिका को एक दुष्ट सुपरपावर बनने की आशंका: अमेरिकी थिंक टैंक

2018-07-05 20:32:01

यूएन की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रंप प्रशासन की 15 खरब अमेरिकी डॉलर टैक्स घटाने की नीति से अमीरों को अधिक फायदा होगा और अमेरिका में गरीबों और अमीरों के बीच का फासला बड़े अंतर से बढ़ जाएगा। वास्तव में पूरा विश्व ट्रंप सरकार की विदेश नीति से परेशान है।

अमेरिकी थिंक टैंक ब्रूस्किंग इंस्टीट्यूट के वरिष्ठ अध्ययनकर्ता रॉबर्ट कगान ने हाल ही में आलेख लिखकर चेतावनी दी कि अमेरिका के एक दुष्ट सुपरपावर बनने की आशंका है। हाल ही में ट्रंप ने व्यापार, ईरानी नाभिकीय समझौते ,कोरियाई नाभिकीय निरस्त्रीकरण समेत मुद्दों पर जो कार्रवाईयां की हैं, उनका संकेत है कि अदम्य विश्व को झुकाने या अस्थाई तौर पर उनकी इच्छा का पालन करने के लिए ट्रंप पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपतियों द्वारा स्वीकृत नैतिकता, विचारधारा और रणनीति के नियंत्रण को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

वॉशिंगटन पोस्ट के कॉलम लेखक रोबर्ट जे सैम्युलसोन ने कहा कि वैश्विकरण की जड़ें अब जमी हुई हैं। ट्रंप इसे नष्ट नहीं कर सकते। लेकिन उनकी संरक्षणवादी नीति वैश्विकरण को बर्बाद और कमजोर बनाएगी। यह एक खराब विकल्प है।

नाटो के पूर्ण महासचिव जाविर सोलाना ने हाल ही में एक आलेख में कहा कि लगता है कि ट्रंप फूट डालो और शासन करो वाली रणनीति पसंद है। इससे सिर्फ हारे हुए लोगों का खेल है।

अमेरिका का एक सुपर पावर से एक दुष्ट सुपरपावर बनना पूरे विश्व के लिए एक गंभीर खतरा है, जिसका जल्द ही हल करने की ज़रूरत है।

(वेइतुंग)

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी