अमेरिकी व्यापारिक प्रभुत्ववाद अवश्य हारेगा

2018-07-06 19:32:06

अमेरिका ने 6 जुलाई को चीन से आयातित 34 अरब अमेरिकी डॉलर वाली वस्तुओं पर 25 प्रतिशत अतिरिक्त टैरिफ लगाया। इसके जवाब में चीन ने समान पैमाने वाली अमेरिकी वस्तुओं पर 25 प्रतिशत टैरिफ लगाया। मानव के आर्थिक इतिहास में सबसे बड़ा ट्रेड वॉर शुरू हुआ है।

चीन अकेले लड़ाई नहीं लड़ता है। इससे पहले यूरोपीय संघ, कनाडा, मैक्सिको, भारत और तुर्की जैसे देशों ने अमेरिकी टैरिफ वृद्धि के खिलाफ़ आत्म सुरक्षा शुरू की थी। विश्व भर में अमेरिकी व्यापारिक प्रभुत्ववाद विरोधी शक्ति बन रही है।

विश्व के एकमात्र सुपरपावर होने के नाते अर्थतंत्र, विज्ञान, तकनीक और सेना में अमेरिका का एकदम लाभ है। अब वह टैरिफ़ का डंडा उठाकर अन्य देशों को खुलेआम धमका रहा है और व्यापारिक प्रभुत्ववाद लागू कर रहा है। इससे न सिर्फ वैश्विक व्यावसायिक श्रृंखला और मूल्य चेन की सुरक्षा को हानि पहुंचेगी, बल्कि विश्व आर्थिक बहाली की गति बाधित होगी और विश्व बाजारों में डांवांडोल हालात बनेंगे, बल्कि अमेरिकी उद्यमों और जनता समेत व्यापक उद्यमों और उपभोक्ताओं के हितों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा। वास्तव में अमेरिका द्वारा घोषित टैरिफ़ वृद्धि के दायरे में से 59 प्रतिशत उत्पाद चीन में स्थित अमेरिकी उद्यमों समेत विदेशी उद्यमों के हैं। इसलिए अमेरिका पूरे विश्व पर गोलियां बरसा रहा है और खुद पर भी गोली चला रहा है। इस तरह का व्यापारिक प्रभुत्ववाद जरूर विफल होगा।

इतिहास में अमेरिका ने कई बार ट्रेड वॉर छेड़ा है, जिनका मुख्य कारण था कि अमेरिकी घरेलू अर्थव्यवस्था में गंभीर समस्या हुई और अमेरिका ट्रेड वॉर से दूसरे पर जिम्मेदारी ठहराना चाहता था। लेकिन इतिहास में यह साबित हुआ है कि ट्रेड वॉर से अमेरिका अपनी समस्या का समाधान नहीं कर सकता था, बल्कि पूरे विश्व मे मंदी लाया था।

चीन अमेरिका ट्रेड वॉर न सिर्फ विश्व के दो सबसे बड़े आर्थिक समुदायों का मुकाबला है, बल्कि एकतरफा बनाम बहुपक्षवाद, प्रभुत्व बनाम नियम, संरक्षणवाद बनाम मुक्त व्यापार है। अमेरिका अपने स्वार्थ के लिए पूरे विश्व पर धौंस जमा रहा है ।उसकी कोई नौतिकता नहीं है, जो लोगों के दिल में बुरी जगह बनाएगा।

इसके अलावा अमेरिका में विरोध की बड़ी लहर उठ रही है और चीनी अर्थव्यवस्था का लचीलापन और धैर्य कल्पना के बाहर है।

इस लड़ाई में अंतरराष्ट्रीय समुदाय को हाथों में हाथ मिलाकर मुक्त व्यापार और बहुपक्षीय व्यवस्था की सुरक्षा कर अमेरिकी व्यापारिक प्रभुत्ववाद को हराना होगा।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी