चीन-अरब सहयोग का उज्ज्वल भविष्य सिद्ध होगा

2018-07-10 19:32:59

10 जुलाई को पेइचिंग में आयोजित 8वीं चीन-अरब सहयोग मंच की मंत्री स्तरीय परिषद की मीटिंग बुलायी गयी। जब-जब चीन और अरब देशों के बीच संबंध दिन ब दिन घनिष्ठ बनते जा रहे हैं, तब-तब अमेरिका और ईस्लामी देशों के बीच अंतर गहरा होता जा रहा है। मध्य पूर्व क्षेत्र में अमेरिका विरोधी भावनाएं निरंतर बढ़ती जा रही है।

नये चीन की स्थापना से अभी तक चीन ने शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के पाँच सिद्धांत प्रस्तुत किये। राष्ट्रपति शी चिनफींग ने मानव के समान भाग्य समुदाय जैसे महत्वपूर्ण विचारधारा भी पेश की हैं। मध्य पूर्व नीतियों के बारे में चीन का हमेशा से यही रुख है कि क्षेत्रीय सवालों का राजनीतिक समाधान किया जाना चाहिये और चीन अरब देशों के एकीकरण का समर्थन करता है। चीनी विदेश मंत्री ने वर्ष 2016 में ही यह बताया कि मध्य पूर्व इस क्षेत्र की जनता का घर है, मध्य पूर्व देशों की जनता को अपने घर का निर्माण करने का अधिकार प्राप्त है। चीन ने मध्य पूर्व के देशों के लिए चीन-अरब सहयोग मंच स्थापित किया और बीते 14 सालों में छह मंत्री स्तरीय बैठक बुलाकर महत्वपूर्ण प्रगतियां हासिल की हैं।

आज जब अंतर्राष्ट्रीय स्थितियों में भारी परिवर्तन हो रहे हैं और विकासमान देशों के सामने चुनौतियां भी बढ़ती जा रही हैं, तब चीन और अरब देश आपस में सहयोग करके उज्ज्वल भविष्य तैयार करेंगे।

( हूमिन )

कैलेंडर

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी