“अनवरत विकास लक्ष्य की प्राप्ति के दौरान वैश्विक साझेदार संबंधों में चीन की भूमिका”संगोष्ठी आयोजित

2018-07-12 15:32:06

अमेरिका के स्थानीय समय के अनुसार“अनवरत विकास लक्ष्य की प्राप्ति के दौरान वैश्विक साझेदार संबंधों में चीन की भूमिका”शीर्षक संगोष्ठी 10 जुलाई को न्यूयार्क में आयोजित हुई। यह संगोष्ठी 2018 संयुक्त राष्ट्र अनवरत विकास उच्च स्तरीय राजनीतिक मंच के शाखा सम्मेलनों में से एक है।

इस संगोष्ठी का आयोजन चीनी गैर-सरकारी अंतरराष्ट्रीय आदान-प्रदान संवर्धन संघ और अमेरिकी मर्सी कॉर्प्स के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। संयुक्त राष्ट्र सचिवालय, यूएन स्थित कुछ देशों, गैर-सरकारी संगठनों और निजीगत विभागों के 60 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

संयुक्त राष्ट्र स्थित चीनी राजदूत मा चाओश्यु ने मुख्य भाषण देते हुए कहा कि वर्तमान में व्यापार संरक्षणवाद और वैश्वीकरण विरोधी विचारधारा उभरी है, इसके साथ ही बहु-पक्षीय व्यापारिक व्यवस्था पर भी प्रभाव पड़ता है। अनवरत विकास के दौरान वैश्विक साझेदार संबंध का उत्थान बहुत महत्वपूर्ण है। इसके सामने गंभीर चुनौतियां भी मौजूद हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को मानव जाति के साझे भाग्य समुदाय का संयुक्त रूप से निर्माण करते हुए गरीबी उन्मुलन के लक्ष्य पर ध्यान देना चाहिए। विकास साझेदार संबंधों को अच्छी तरह विकास करते हुए अंतरराष्ट्रीय विकास के पर्यावरण में सुधार भी लाना चाहिए। ताकि विभिन्न देशों की जनता को वैश्विक आर्थिक वृद्धि से प्राप्त लाभ उपभोग कर सकें।

मा चाओश्यु के अनुसार चीन मुक्त व्यापार और बहु-पक्षीय व्यवस्था की रक्षा करने, अनवरत विकास को आगे बढ़ाने में हमेशा से सक्रिय और महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। विश्व के सबसे बड़े विकासमान देश के रूप में चीन हमेशा विकास को प्रधानता देता है। इसके साथ ही चीन“बेल्ट एंड रोड”के निर्माण के तहत अंतरराष्ट्रीय सहयोग पर जोर देता है। इसके तटीय देशों के अनवरत विकास को बढ़ावा मिला है।“बेल्ट एंड रोड”प्रस्ताव और 2030 अनवरत विकास कार्यक्रम के अनुकूल है, जो एक दूसरे के पूरक ही नहीं, आपसी संवर्धन किया जा सकता है। दोनों अंतरराष्ट्रीय विकास और सहयोग को आगे बढ़ा सकते हैं।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी