चीन वैश्विक नवाचार का नेता बन रहा है

2018-07-13 18:32:12

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय ने 10 जुलाई को“301 जांच से संबंधित बयान”जारी कर चीन पर“बौद्धिक संपदा अधिकार की चोरी”करने पर आरोप लगाया। इसके जवाब में चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ छुनयिंग ने 13जुलाई को आयोजित नियमित संवाददाता सम्मेलन में इसका खंडन करते हुए कहा कि नवाचार और बौद्धिक संपदा अधिकार अमेरिका का एकमात्र पेटेंट नहीं है, चीन कदम ब कदम वैश्विक नवाचार और ब्रांड का अग्रणी नेता बन रहा है।

हुआ छुनयिंग ने कहा कि आंकड़ों के मुताबिक चीन में सृजनात्मक उद्योगों की संख्या विश्व के दूसरे स्थान पर है, चीन ने“पेटेंट सहयोग संधि”के माध्यम से पेटेंट आवेदन को स्वीकार करने के मामलों की संख्या अमेरिका के पीछे विश्व में दूसरे स्थान पर रहा। दिसम्बर 2017 में विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार संगठन द्वारा जारी“विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार सूचकांक”से पता चला है कि चीनी राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा अधिकार ब्यूरो द्वारा स्वीकार किए गए पेटेंट आवेदन के मामले 13 लाख से अधिक रहे, जो लगातार 7 सालों में विश्व के पहले स्थान पर रहा है। यह संख्या अमेरिका, जापान, दक्षिण कोरिया और यूरोपीय पेटेंट ब्यूरो की कुल संख्या से ज्यादा है। आने वाले 3 सालों में चीन विश्व में सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय पेटेंट आवेदन देश बन जाएगा। इन तथ्यों से जाहिर है कि चीन एक स्व-रचना बौद्धिक संपदा अधिकार वाला बड़ा देश बन गया है। गत वर्ष चीन ने विदेशों में बौद्धिक संपदा अधिकार के भुगतान के लिए 28 अरब 60 करोड़ डॉलर का खर्च किया, जिनमें अमेरिका को दी गई संबंधित राशि में 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

चीनी प्रवक्ता ने कहा कि यह संख्या और तथ्यों से अमेरिका के तथाकथित आरोप निराधार जाहिर होता है। इसके साथ ही पता चलता है कि चीन न केवल बौद्धिक संपदा अधिकार का सम्मान करता है, बल्कि चीन की संबंधित कार्रवाई कारगर भी है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी