चच्यांग के विदेशी व्यापार बड़े प्रांत से खुलेपन बड़े प्रांत तक बदलने का रहस्य

2018-07-18 19:35:03

पूर्वी चीन के चच्यांग प्रांत का क्षेत्रफल पूरे चीन का महज 1.1 प्रतिशत है। लेकिन गत वर्ष में उस का आयात-निर्यात पैमाना चीन में चौथे स्थान पर रहा। चीन में सुधार व खुलेपन के बाद चच्यांग लगातार चीन के विदेशी व्यापार का बड़ा प्रांत बना रहा। पर वह विदेशी व्यापार के बड़े प्रांत से खुलेपन के बड़े प्रांत तक कैसे बदल गया?चच्यांग प्रांत के विभिन्न जगत आठ आठ नामक रणनीति को शक्ति का स्रोत मानते हैं। यह रणनीति 15 साल पहले चच्यांग प्रांत की चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की कमेटी के सचिव शी चिनफिंग द्वारा पेश की गयी।

वर्तमान में चच्यांग प्रांत के निंगबो चोशान बंदरगाह में हर सौ कन्टेनरों में 40 कन्टेनरों का आयात-निर्यात एक पट्टी एक मार्ग से जुड़े देशों के बीच किया जाता है। निंगबो चोशान बंदरगाह ग्रुप कंपनी के सुरक्षा उत्पादन विभाग के अध्यक्ष नी येनबो के अनुसार वर्ष 2014 से वर्ष 2017 तक एक पट्टी एक मार्ग से संबंधित शिपिंग लाइन की संख्या 74 से 86 तक पहुंच गयी। जो दक्षिण-पूर्वी एशियाई देशों से जापान, दक्षिण कोरिया, उत्तर अमेरिका आदि देशों को माल परिवहन का महत्वपूर्ण ट्रांजिट हब है।

वर्ष 2003 में शी चिनफिंग ने आठ आठ रणनीति में चच्यांग प्रांत से क्षेत्रीय श्रेष्ठता से लाभ उठाकर सक्रिय रूप से शांगहाई से जुड़कर यांगत्ज़ी नदी डेल्टा के सहयोग व आदान-प्रदान में भाग लेने और लगातार अपने खुलेपन के स्तर को उन्नत करने की मांग की।

शी चिनफिंग ने कहा था कि बीते समय में चच्यांग का विकास बहुत तेज हुआ। जो बंदरगाह के निर्माण से संबंधित है। भविष्य में चच्यांग का विकास भी बंदरगाह पर निर्भर रहेगा। भविष्य में हम बंदरगाह के निर्माण पर बल देंगे। इस निर्माण में निंगबो चोशान बंदरगाह का एकीकरण एक महत्व है।

गौरतलब है कि गत वर्ष में निंगबो चोशान बंदरगाह का प्रवाह 1 अरब टन तक पहुंच गया, जो विश्व में पहला बड़ा बंदरगाह बना।

इसके अलावा चच्यांग के उद्यमों को भी खुलेपन से प्रत्यक्ष लाभ मिला है। आंकड़ों के अनुसार हाल के कई वर्षों में चच्यांग के उद्यम हर साल एक सौ से अधिक सीमा पार विलयन करते हैं। उन विलयन मामलों में देशी-विदेशी उद्यमों को समान जीत प्राप्त होती है।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी