संयुक्त अरब अमीरात के साथ एक पट्टी एक मार्ग का निर्माण करेगा चीन

2018-07-19 19:32:03

19 जुलाई को चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने संयुक्त अरब अमीरात की राजकीय यात्रा शुरू की। राष्ट्रपति बनने के बाद यह उनकी पहली यात्रा है। यह 30 साल में चीनी नेताओं द्वारा की गयी संयुक्त अरब अमीरात की पहली यात्रा भी है।

हालांकि संयुक्त अरब अमीरात का क्षेत्रफल केवल 80 हजार वर्ग किलोमीटर है। लेकिन वह फारस की खाड़ी से नज़दीक है। जिसकी परिवहन व्यवस्था बहुत विकसित है। दुबई विश्व प्रसिद्ध एयरपोर्ट पोर्ट व कमोडिटी वितरण केंद्र है। इसके अलावा संयुक्त अरब अमीरात में तेल व गैस का संसाधन बहुत समृद्ध है। वर्ष 2017 में संयुक्त अरब अमीरात में प्रति व्यक्ति की औसत जीडीपी 40 हजार डॉलर तक पहुंची थी। इस देश के विकास योजना के अनुसार वर्ष 2021 में संयुक्त अरब अमीरात विश्व में सबसे विकसित देशों में से एक बन जाएगा।

वर्ष 2012 में चीन ने संयुक्त अरब अमीरात के साथ रणनीतिक साझेदार संबंधों की स्थापना की। वह चीन के साथ ये संबंध स्थापना करने वाला पहला खाड़ी अरब देश बना। दोनों पक्षों ने इस मौके से लाभ उठाकर लगातार विभिन्न क्षेत्रों के सहयोग मजबूत किया। एक पट्टी एक मार्ग के तेज निर्माण के साथ चीन व मध्यपूर्व क्षेत्रों के बीच तेल व गैस के सहयोग कार्यक्रमों में प्रगति हासिल हुई है।

उन के अलावा चीन व संयुक्त अरब अमीरात बुनियादी सुविधाओं के निर्माण, दूर संचार, मानवीय संस्कृति आदि क्षेत्रों के सहयोग भी लगातार मजबूत करते रहे। खासतौर पर वर्ष 2013 में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने एक पट्टी एक मार्ग का सुझाव पेश किया। इसके बाद संयुक्त अरब अमीरात ने इसका सकारात्मक जवाब दिया, और इस सुझाव का उच्च मूल्यांकन किया। अनुमान है कि शी चिनफिंग की इस यात्रा से विभिन्न क्षेत्रों में दोनों देशों का सहयोग ज़रूर और घनिष्ठ होगा।

गौरतलब है कि मध्यपूर्व देशों के प्रति एक पट्टी एक मार्ग विकास का एक ऐतिहासिक मौका है। अरब वासी एक पट्टी एक मार्ग सुझाव को देश व क्षेत्र का पुनरुत्थान करने का एक दुर्लभ मौका मानते हैं। उम्मीद है कि एक पट्टी एक मार्ग की संभावना विशाल होगी।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी