चीनी राजदूतः ट्रम्प द्वारा छेड़ा गया व्यापारिक युद्ध अन्यायपूर्ण और अनुचित

2018-07-19 19:35:03

चीनी राजदूतः ट्रम्प द्वारा छेड़ा गया व्यापारिक युद्ध अन्यायपूर्ण और अनुचित

अमेरिका स्थित चीनी राजदूत छ्वेई थ्येनखाई ने 18 जुलाई को यूएसए टुडे की वेबसाइट पर लेख जारी कर कहा कि ट्रम्प द्वारा छेड़ा गया व्यापारिक युद्ध अन्यायपूर्ण और अनुचित है।

लेख में कहा गया कि चीन जानबूझकर अनुकूल संतुलन वाले व्यापार नहीं ढूंढ़ना चाहता है। व्यापारिक संतुलन पूरी तरह बाजार द्वारा तय किया गया है। व्यापार में प्रतिकूल संतुलन अमेरिका के लिए कोई एक बुरी बात भी नहीं है। अमेरिकी परिवार लम्बे अरसे से उच्च गुणवत्ता और कम कीमत वाली वस्तुओं का इस्तेमाल कर रहे हैं।

चीन के आर्थिक ढांचागत समस्या की आलोचना भी बार बार अमेरिका ने की। संबंधित आलोचना अन्यायपूर्ण व अनुचित है। बौद्धिक संपदा का संरक्षण एक सतत प्रयास की प्रक्रिया है। चीन ने कई काम किये और भारी प्रगति हासिल की है। चीन सरकार ने अपेक्षाकृत पूर्ण बौद्धिक संपदा की कानूनी रक्षा सिस्टम की स्थापना की है और बौद्धिक संपदा के अदालतों और खास चर्च संस्थाओं की स्थापना भी की। 2017 में चीन द्वारा विदेशों को दिये गये बौद्धिक संपदा के लिए दिया गया खर्चा 28.6 अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचा था, जिन में 7.13 अरब अमेरिकी डॉलर चीन ने अमेरिका को दिया था। बौद्धिक संपदा के संरक्षण को परिपूर्ण बनाना चीन के खुद के विकास खास तौर पर नवाचार विकास की मांग भी है।

हाल में व्यापारिक असंतुलन और ढांचागत समस्या पर चीन को सुधार करने की आवश्यक्ता है। लेकिन चीन और अमेरिका को आपसी सम्मान और विश्वास के आधार पर वार्तालाप और सहयोग करना चाहिए। चीन ने सबसे बड़ी सदिच्छा से द्विपक्षीय वार्ता से मतभेदों का हल करने की कोशिश की। इस साल के फरवरी से जून माह तक चीन और अमेरिका ने चार बार की उच्च स्तरीय आर्थिक व व्यापारिक वार्ताएं कीं। दोनों ने 19 मई को संयुक्त वक्तव्य जारी कर आर्थिक व व्यापारिक सहयोग मजबूत करने और व्यापारिक युद्ध न छेड़ने पर अहम सहमतियां प्राप्त कीं। लेकिन अमेरिका ने अपने वचनों का पालन न कर खुलेआम व्यापारिक युद्ध छेड़ा। चीन को विवश होकर जवाबी प्रतिबंध लगाना पड़ा।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी