चीन और भारत अफ्रीका के विभिन्न देशों के साथ आपसी लाभ वाली समान जीत प्राप्त करना चाहते हैं

2018-07-24 17:32:01

चीन और भारत अफ्रीका के विभिन्न देशों के साथ हर क्षेत्रों में सहयोग को गहराना और आपसी लाभ वाली समान जीत प्राप्त करना चाहते हैं। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता केंग श्वांग ने 24 जुलाई को यह बात कही।

रिपोर्ट के अनुसार चीनी राष्ट्रपति शी चिन फिंग और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे पहले एक ही दिन रवांडा की यात्रा की। यात्रा के दौरान चीन और भारत ने अलग अलग तौर पर रवांडा के साथ कई द्विपक्षीय सहयोग दस्तावेज पर हस्ताक्षर किए। अफ्रीका में चीन और भारत के बीच सहयोग करने के भविष्य के सवालों का जवाब देते हुए केंग श्वांग ने कहा कि विश्व में दोनों सबसे बड़े विकासशील देशों और नवोदित बाजार वाले देशों के रूप में चीन और भारत दक्षिण-दक्षिण सहयोग के ढांचे में औद्योगीकरण की प्रक्रिया में तेज़ी लाने के लिए अफ्रीका को सहायता देना चाहते हैं, अफ्रीका के विभिन्न देशों के साथ हर क्षेत्र में सहयोग को गहराते हुए आपसी लाभ वाले समान जीत प्राप्त करना चाहते हैं। इस पहलू में दोनों देश समान विचारधारा वाले भागीदार हैं।

केंग श्वांग ने यह भी कहा कि शी चिन फिंग और मोदी दक्षिण अफ्रीका में आयोजित होने वाले ब्रिक्स देशों के नेताओं के शिखर सम्मेलन के दौरान मुलाकात करेंगे। यह इधर के कुछ महीनों में दोनों नेताओं के बीच तीसरी मुलाकात होगी, जिससे यह ज़ाहिर है कि वर्तमान द्विपक्षीय संबंध अच्छी तरह विकास करने की स्थिति में हैं।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी