टिप्पणीः अमेरिका विश्व व्यापार में जंगल का कानून लागू कर रहा है

2018-07-25 16:32:02

अमेरिकी व्हाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार लैरी कुडलो ने हाल ही में एक टीवी कार्यक्रम में बताया कि चीन को अब डील करने की चाहत नहीं है, इसलिए गेंद अब चीन के पाले में है ।उन्होंने व्यापारिक वाद विवाद की सभी जिम्मेदारी चीन पर डाली है। वास्तव में अमेरिका एक तरफ डब्ल्यूटीओ की मध्यस्थता की भूमिका बाधित कर रहा है, दूसरी तरफ घरेलू कानून के तहत दूसरे देशों पर दबाव डाल रहा है। अमेरिका विश्व व्यापार में जंगल का कानून लागू कर रहा है ।

विश्व व्यापार संगठन से केंद्रित बहुपक्षीय व्यापार व्यवस्था अमेरिका के नेतृत्व वाले पश्चिमी देशों से स्थापित की गयी है। नियम के अनुसार अगर डब्ल्यू टी ओ के सदस्यों के बीच वाद-विवाद मौजूद है, तो डब्ल्यू टी ओ की संबंधित संस्था के अंदर समस्या का समाधान किया जाता है। अब अमेरिका अपने स्वार्थ के कारण डब्ल्यू टी ओ की अपील संस्था को लकवाग्रस्त करने की कोशिश कर रहा है। इस जुलाई तक अमेरिका ने लगातार 10 महीनों तक डब्ल्यू टी ओ के नये न्यायाधीशों की नियुक्ति की प्रक्रिया बाधित की। अमेरिका को वर्तमान डब्ल्यू टी ओ के प्रति असंतोष है। इसका एक मुख्य कारण है कि अमेरिका डब्ल्यू टी ओ के ज़रिये तथाकथित प्रतिद्विंदी चीन के तेज़ विकास को नियंत्रित नहीं कर सका।

डब्ल्यूटीओ को छोड़कर अब अमेरिका अपने घरेलू कानून का प्रयोग कर व्यापारिक साझेदारों को सज़ा दे रहा है। चीन से आने वाली वस्तुओं के खिलाफ़ अमेरिका 1974 व्यावार कानून की 301वीं धारा का प्रयोग कर रहा है । धारा 301 के तहत अमेरिकी सरकार को एकतरफावादी कदम उठाने का अधिकार प्राप्त है।

अमेरिका इसलिए डब्ल्यूटीओ छोड़कर द्विपक्षीय तरीके से व्यापारिक वाद विवाद का समाधान करने का अनुसरण करता है कि अमेरिका का विश्वास है कि द्विपक्षीय आमने सामने वाली स्थिति में वह आसानी से जीत पाएगा, क्योंकि अमेरिका वर्तमान विश्व में एकमात्र सुपर पावर है।

अमेरिका के मशहूर समीक्षक रॉबर्ट कगान ने हाल ही में बताया कि सुपर दुष्ट देश के रूप में अमेरिका अपने बल का सहारा लेकर मनमानी कर रहा है और पूरे विश्व को अपनी उंगली पर नचाना चाहता है।

अभी समाप्त जी-20 की एक बैठक में फ्रांसीसी वित्त मंत्री ब्रुनो ले मैरी ने दो टूक कहा कि ट्रंप सरकार की एकतरफावादी टैरिफ नीति जंगली कानून पर आधारित है।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी