चीन-अमेरिका, चीन-भारत, चीन-अफ़्रीका सैन्य आदान-प्रदान के बारे में परिचय : चीनी रक्षा मंत्रालय

2018-07-27 14:32:59

चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता रन कुओ छ्यांग ने 26 जुलाई को पेइचिंग में हाल ही में चीन-अमेरिका, चीन-भारत, चीन-अफ़्रीका सैन्य आदान-प्रदान के बारे में परिचय दिया।

योजना के मुताबिक चीनी और अमेरिकी सेनाएं 17 से 21 सितंबर तक चीन के शानशी प्रांत के शीआन शहर में संयुक्त रूप से 2018 एशिया-प्रशांत सैन्य चिकित्सा वार्षिक सम्मेलन का आयोजन करेंगी। चीन, अमेरिका, थाईलैंड और सिंगापुर सहित 28 देशों के सैन्य प्रतिनिधि और संयुक्त राष्ट्र, अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस और आसियान सैन्य चिकित्सा केंद्र तीन अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधि कुल करीब 600 लोग सम्मेलन में भाग लेंगे। यह चीनी और अमेरिकी सेनाओं के चीन में पहली बार इस गतिविधि का संयुक्त आयोजन करना है।

2 से 6 जुलाई तक चीन के पश्चिमी युद्ध क्षेत्र के डिप्टी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल ल्यू श्याओ वू ने युद्ध क्षेत्र के सीमा रक्षा प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करके भारत की यात्रा की। उन्होंने भारतीय थलसेना, पूर्वी सैन्य क्षेत्र और उसकी सेना के नेताओं के साथ कई बैठकें कीं। रन कुओ छ्यांग ने कहा कि दोनों पक्ष दोनों देशों के नेताओं की सहमतियों का पालन करने, फ्रंट लाइन जोखिम नियंत्रण को मजबूत करने, सामरिक स्तर के संयुक्त प्रशिक्षण का विस्तार करने, सीमा रक्षा बलों के बीच सांस्कृतिक और खेल आदान-प्रदान को मजबूत करने और सीमावर्ती इलाकों में संयुक्त रूप से शांति और स्थिरता की रक्षा करने आदि पर सहमत हुए। इसके अलावा रन कुओ छ्यांग ने घोषणा की कि भारतीय रक्षा मंत्री के निमंत्रण पर चीनी रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंगहे इसी वर्ष के भीतर भारत की यात्रा करेंगे। अब दोनों रक्षा विभाग प्रासंगिक मामलों पर बातचीत कर रहे हैं।

इसके अलावा 26 जून से 10 जुलाई तक पहला चीन-अफ्रीका रक्षा सुरक्षा फोरम पेइचिंग में आयोजित हो रहा है। चीनी रक्षा मंत्रालय ने 50 अफ्रीकी देशों और अफ्रीकी संघ के रक्षा विभागों के सैन्य प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया।

(नीलम)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी