शी चिनफिंग ने ब्रिक्स प्लस शिखर सम्मेलन में भाग लिया

2018-07-28 14:32:02

ब्रिक्स प्लस शिखर सम्मेलन 27 जुलाई को दक्षिण अफ्रीका के जोहानेसबर्ग में आयोजित हुआ ।इसमें हिस्सा लेने वाले नेताओं ने अंतरराष्ट्रीय विकास, सहयोग और दक्षिण-दक्षिण सहयोग पर विचार विमर्श कर व्यापक समानताएं बनाईं। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इसमें भाग लेकर भाषण दिया।

शी ने कहा कि वर्तमान विश्व बड़े विकास और परिवर्तन काल से गुज़र रहा है। नवोदित बाज़ार देश और विकासशील देश समान अवसर और चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। नवोदित देशों और विकासशील देशों के बीच एकता और सहयोग मज़बूत करना महत्वपूर्ण है।

उन्होंने चार सुझाव दिये। पहला, ब्रिक्स प्लस सहयोग का विस्तार कर पारस्परिक लाभ वाली साझेदारी को बढ़ाया जाए। दूसरा ,ब्रिक्स प्लस सहयोग का विस्तार कर विकास का नया इंजन ढूंढ़ा जाए ।तीसरा ,ब्रिक्स प्लस सहयोग का विस्तार कर अनुकूल बाहरी पर्यावरण तैयार किया जाए। चौथा ,ब्रिक्स प्लस सहयोग का विस्तार कर नयी किस्म वाले अंतरराष्ट्रीय संबंधों का निर्माण किया जाए।

शी चिनफिंग ने बल देकर कहा कि चीनी विशेषता वाला समाजवाद नये युग में दाखिल हुआ है, पर चीन के विश्व में सबसे बड़ा विकासशील देश होने के स्थान में बदलाव नहीं आया। चाहे भविष्य में चीन का विकास कैसा भी रहे, चीन हमेशा विकासशील देशों के विकास का सुदृढ़ समर्थन करेगा और उनके साथ घनिष्ठ साझेदारी में जुटेगा।

इस वार्तालाप में उपस्थित अन्य देशों के नेताओं ने बताया कि इस ब्रिक्स प्लस शिखर बैठक से ब्रिक्स सहयोग की समावेशी ज़ाहिर हुई है। उनके विचार में वर्तमान स्थिति में नवोदित बाज़ार देशों और विकासशील देशों की एकता और समन्वय को मज़बूत करना ,ब्रिक्स देशों और अफ्रीकी देशों का सहयोग बढ़ाना और मिलकर एकतरफावाद और संरक्षणवाद का विरोध करना चाहिए ताकि समावेशी वृद्धि और निरंतर विकास पूरा कर विभिन्न देशों की जनता के कल्याण को बढ़ाया जाए।

ब्रिक्स देशों के नेता और निमंत्रण पर आये अंगोला, अर्जेंटीना, मिस्र, तुर्की ,युगांडा और आदि देशों के नेता या उनके प्रतिनिधि और संबंधित अफ्रीकी क्षेत्र के संगठनों के प्रमुख इस वार्तालाप में उपस्थित हुए।

(वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी