“बेल्ट एंड रोड”प्रस्ताव से नेपाली नागरिक उड्डयन विकास को मिला लाभ

2018-08-13 12:02:00

इधर के सालों में“बेल्ट एंड रोड”प्रस्ताव पेश किए जाने के बाद चीन और नेपाल के बीच कई सहयोग किए जा रहे हैं। दोनों देशों की संयुक्त पूंजी वाली हिमालय एयरलाइंस कंपनी इनमें से एक है।

इस कंपनी की स्थापना की पृष्ठभूमि का परिचय देते हुए हिमालय एयरलाइंस के कार्यकारी महानिदेशक चाओ क्वोछ्यांग ने कहा कि“बेल्ट एंड रोड”प्रस्ताव से चीन-नेपाल सहयोग को नया अवसर मिला है, जिससे नेपाल की आर्थिक वृद्धि में नई प्रेरित शक्ति संचार हुई है और साथ ही दोनों देशों के बीच मैत्री, आपसी विश्वास और संपर्क के लिए एक नया मंच भी प्रदान किया गया है। 19 अगस्त, 2014 को हिमालय एयरलाइंस कंपनी की स्थापना हुई, जो नेपाल के नागरिक उड्डयन क्षेत्र में चीन की सबसे बड़ी निवेश परियोजना है, इसके साथ ही तिब्बत स्वायत्त प्रदेश द्वारा विदेश में सबसे बड़ी निवेश परियोजना भी है।

वर्तमान में हिमालय एयरलाइंस की काठमांडू से कतार की राजधानी दोहा, मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर, सऊदी अरब के बदरगाह शहर दम्मम और संयुक्त अरब अमीरात के शहर दुबई तक आने वाली चार उड़ानें उपलब्ध हैं। कंपनी के नेपाली उप महाकार्यकारी विजय श्रद्धा के अनुसार कंपनी की स्थापना के दो उद्देश्य हैं। पहला, अधिकाधिक पर्यटकों का परिवहन करने से नेपाल के आर्थिक विकास को आगे बढ़ाना है, जो कि प्रमुख लक्ष्य भी है। दूसरा, नेपाली नागरिकों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय, विभिन्न देशों के नागरिकों के बीच मैत्री को आगे बढ़ाना है।

विजय श्रद्धा के मुताबिक हिमालय एयरलाइंस के कुल 3 ए320-214 विमान, 45 विमान चालक और चालक दल के 94 सदस्य हैं। कंपनी के भीतर 304 कर्मचारी हैं, जिनमें 27 चीनी और भारत, अमेरिका और जर्मनी से आए 32 कर्मचारी हैं।

बताया जाता है कि आने वाले 5 सालों में हिमालय एयरलाइंस कंपनी के 15 विमान हो जाएंगे। भावी 10 सालों में विमानों की संख्या 30 तक जा पहुंचेगी। काठमांडू के अलावा पोखरा और लुम्बिनी में परिचालन अड्डे भी स्थापित किये जाएंगे, ताकि नेपाली अंतर्राष्ट्रीय विमानन बाजार का जाल और संपूर्ण हो सके।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी