हम्बनटोटा : चीन और श्रीलंका के सहयोग से समुद्री सिल्क रोड का सितारा बनेगा

2018-08-21 15:02:06

श्रीलंका के दक्षिण में स्थित हम्बनटोटा हिंद महासागर के अंतर्राष्ट्रीय शिपिंग लाइन के पास एक मशहूर बंदरगाह है। आज विश्व में 50% कंटेनर शिपिंग, एक तिहाई थोक शिपिंग तथा दो तिहाई तेल परिवहन हिन्द महासागर से गुजरता है। इस स्थिति से हम्बनटोटा एक पट्टी एक मार्ग के लाइन पर महत्वपूर्ण हब बनेगा।

वर्ष 2017 के जुलाई माह में चीन और श्रीलंका द्वारा स्थापित संयुक्त पूंजी वाली कंपनियों ने हम्बनटोटा बंदरगाह में वाणिज्यिक प्रबंधन संचालन और प्रशासनिक संचालन की जिम्मेदारी उठायी है। इससे चीन और श्रीलंका ने संयुक्त रूप से 21वीं समुद्रीय सिल्क रोड पर भावी सितारा का निर्माण करना शुरू किया। अभी तक बंदरगाह में कार रोल-ऑन व्यवसाय, थोक माल व्यापार तथा तेल और प्राकृतिक गैस व्यापार चलाया जा रहा है। चीनी कंपनी ने उन्नतिशील प्रबंधन अनुभव का इस्तेमाल किया और स्थानीय तकनीशियनों का प्रशिक्षण शुरू किया जिससे बंदरगाह में कार्य क्षमता को स्पष्ट तौर पर बढ़ाया गया है।

पता चला है कि बंदरगाह में 12 वर्ग किलोमीटर विशाल औद्योगिक रसद क्षेत्र का निर्माण किया जा रहा है। जिसमें मोटर वाहन, भोजन, ऊर्जा और पॉवर आदि के कारोबारों का प्रवेश हो जाएगा। मध्य पूर्व और दक्षिण एशिया के अनेक कारोबारों ने यहां निवेश लगाने की उम्मीद प्रकट की। हम्बनटोटा क्षेत्र में पाँच लाख जनसंख्या रहती है और बंदरगाह के निर्माण से इनके लिए पचास हजार रोजगार के मौके तैयार होंगे। 21वीं समुद्रीय सिल्क रोड पर भावी सितारा के निर्माण से श्रीलंकाई जनता को लाभ मिलेगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी