चीन व मलेशिया के बीच व्यवहारिक सहयोग का नया युग

2018-08-21 15:34:07

21 अगस्त को 93 वर्षीय मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथीर मोहमद ने पद संभालने के बाद अपनी प्रथम चीन यात्रा शुरू की। मलेशिया में आम चुनाव का परिणाम निकलने के बाद पश्चिमी मीडिया ने यह आवाज़ उठायी कि मलेशिया व चीन के बीच संबंधों में परिवर्तन आएगा। लेकिन महाथीर ने चीन को अपनी विदेश यात्राओं का पहला पड़ाव बनाया है जिससे यह जाहिर है कि चीन व मलेशिया के बीच संबंध नहीं तोड़ेगा।

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने महाथीर से भेंट के दौरान इस बात पर महाथीर की प्रशंसा की है कि वे चीन के साथ संबंधों को महत्व देते हैं और एक पट्टी एक मार्ग का समर्थन करते हैं। शी चिनफिंग ने जोर देते हुए कहा कि एक पट्टी एक मार्ग का निर्माण चीन व मलेशिया के बीच सहयोग में महत्वपूर्ण मुद्दा बनेगा।

महाथीर ने कहा कि उन की यात्रा में वे इस बात पर प्रकाश डालेंगे कि मलेशिया की चीन के साथ मित्रता कायम करने की नीति नहीं बदलेगी। उन्होंने चीन के उद्योगधंधों में प्राप्त भारी प्रगतियों की खूब प्रशंसा की। मलेशिया चीनी कारोबारों के पूंजीनिवेश का स्वागत करता है। रिपोर्ट है कि मलेशिया को एक पट्टी एक मार्ग के निर्माण में सबसे ज्यादा लाभ प्राप्त चार एशियाई देशों में से एक है। अभी तक मलेशिया में 34.2 अरब अमेरिकी डालर का पूंजीनिवेश आकर्षित किया गया है। पर मलेशिया के सामने मौका होने के साथ साथ चुनौतियां भी मौजूद हैं। मलेशिया के ऋण की मात्रा 252 अरब अमेरिकी डालर तक जा पहुंची है। जो देश के जीडीपी का 80.3 प्रतिशत भाग बनता है। जबकि मलेशिया का विदेशी मुद्रा भंडार एक खरब 4 अरब पचास करोड़ अमेरिकी डालर रहा है। यह स्तर एशियाई देशों में सबसे नीचा है। उच्च ऋण स्तर से वित्तीय संकट पैदा होने का खतरा भी मौजूद है। इसीलिये महाथीर सरकार ने कुछ भारी परियोजनाओं को रद्द करने का फैसला किया है। इधर नौ वर्षों में चीन मलेशिया का सबसे बड़ा व्यापार सहपाठी रहा है। उधर मलेशिया भी आसियान देशों में चीन के लिए सबसे बड़ा आयात देश है। चीन ने मलेशिया में 380 परियोजनाओं में पूंजीनिवेश लगाया है और स्थानीय लोगों के लिए 60 हजार रोजगार के मौका तैयार किये हैं। चीन भी मलेशिया में सबसे बड़ा विदेशी पर्यटकों का स्रोत है और मलेशिया में बड़ी संख्या में चीनी प्रवासी हैं, चीनी भाषा व संस्कृति का मलेशिया में पर्याप्त संरक्षण भी किया गया है। जो चीन और मलेशिया के बीच सहयोग करने के लिए मददगार भी है।

महाथीर ने चीन में ई-कॉमर्स, नए ऊर्जा वाहन और ड्रोन्स कंपनियों का दौरा किया। वे चीन की तकनीक का इस्तेमाल कर मलेशिया को शक्तिशाली विनिर्माण देश बनाना चाहते हैं। इसमें कोई संदेह नहीं कि एक पट्टी एक मार्ग के ढांचे में चीन और मलेशिया के बीच व्यावहारिक सहयोग किया जाएगा।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी