डॉलर और रुपए की विनिमय दर इतिहास में सबसे नीचे गिरी

2018-08-31 17:04:00

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी और चालू खाते में घाटे के विस्तार के प्रभाव से 30 अगस्त को अमेरिकी डॉलर और रुपए की विनिमय दर इतिहास में सबसे नीचे आ गयी।

उसी दिन भारतीय रुपये और अमेरिकी डॉलर की विनिमय दर 70.62:1 से शुरु हुई। व्यापार के दौरान वह 70.86:1 तक पहुंच गयी, जो इतिहास में सब से कम है। व्यापार के अंत में वह 70.73:1 से समाप्त हुई।

इस वर्ष रुपए और अमेरिकी डॉलर की विनिमय दर लगातार गिर रही है। वर्ष की शुरूआत से अब तक वह 10 प्रतिशत तक गिर चुकी है।

रुपये के अवमूल्यन के प्रति भारत सरकार ने ज्यादा हस्तक्षेप कदम नहीं उठाये। हालांकि रुपये के अवमूल्यन से भारत तेल के आयात में ज्यादा खर्च करेगा, लेकिन भारत के निर्यात की प्रतिस्पर्द्धा शक्ति ज्यादा मजबूत होगी। भारत ने विदेश व्यापार व निर्यात को आर्थिक वृद्धि का एक महत्वपूर्ण तरीका बनाने को कहा।

चंद्रिमा

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी