अफ़गान तालिबान ने हक्कानी के संस्थापक की मौत की पुष्टि की

2018-09-04 17:02:00

उग्रवादी सशस्त्र संगठन “हक्कानी नेटवर्क” के संस्थापक जलालुद्दीन हक्कानी की मौत हो गई। अफगान तालिबान ने 4 सितंबर को बयान जारी किया कि कई वर्षों में बीमार रहने के कारण जलालुद्दीन हक्कानी की मौत हो गई। लेकिन इस कथन में हक्कानी की मौत के समय और कारण के बारे में कुछ नहीं बताया गया है। उस दिन अफगान मीडिया ने इस बात की रिपोर्ट जारी की।

जलालउद्दीन हक्कानी का जन्म 1939 में पूर्वी अफगानिस्तान के पक्तिया प्रांत में हुआ था। 1970 के दशक में उसने उग्रवादी सशस्त्र संगठन “हक्कानी नेटवर्क” की स्थापना की। उनके नेतृत्व में इस संगठन ने सोवियत संघ के अफगानिस्तान पर आक्रमण के खिलाफ लड़ाई की। 1990 के दशक में “हक्कानी नेटवर्क” ने अफगान तालिबान से गुट बनाया। लंबे समय से उसने पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच सीमा क्षेत्र में अड्डा बनाया। साथ ही उसने अफगानिस्तान में ज़्यादातर आतंकवादी गतिविधियों की योजना बनाई और उसे अंजाम दिया।

वर्तमान में “हक्कानी नेटवर्क” को अमेरिकी सरकार ने आतंकवादी संगठन घोषित किया है। 31 मई 2017 को अफगानिस्तान के दूतावास क्षेत्र में गंभीर आत्मघाती कार बम विस्फोट हुआ था। इसमें 90 लोगों की मौत हुई, जबकि 400 से अधिक लोग घायल हुए। अफगान सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा ब्यूरो के कथन हक्कानी संगठन की आलोचना हुई कि “हक्कानी नेटवर्क” को इस हमले की जिम्मेदारी लेनी चाहिये।

पता चला है कि लंबे समय से जलालउद्दीन हक्कानी रोग-शय्या पर था और पर्दे के पीछे से आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता था। उसके 7 बेटे हैं। अब उसके बेटे हक्कानी नेटवर्क के नेता हैं।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी