पाकिस्तानी छात्रों के चीन में अध्ययन से दोनों देशों की दोस्ती को बढ़ाया

2018-09-07 19:04:00

चीनी कंपनी की सहायता में चीन में अध्ययन करने वाले दूसरे जत्थे के पाकिस्तानी छात्रों का विदाई समारोह 6 सितंबर को पाकिस्तान की उच्च शिक्षा समिति में आयोजित हुआ। 22 पाकिस्तानी छात्र इस सितंबर के मध्य में चीन में अध्ययन करने के लिये जाएंगे। वहां वे 2 साल की मास्टर की पढ़ाई करेंगे।

पाकिस्तान की उच्च शिक्षा समिति के अध्यक्ष डॉ. तारिक बनुरी ने चीनी कंपनी के पाकिस्तानी छात्रों को आर्थिक सहायता देने की योजना का धन्यवाद दिया। उम्मीद है कि सभी पाकिस्तानी छात्र चीन में अध्ययन करने के मौके को मूल्यवान समझेंगे। साथ ही इन छात्रों को व्यावसायिक जानकारी सीखने का हर प्रयास करना चाहिये। इसीलिये वे अच्छे परिणाम प्राप्त करेंगे और चीन-पाकिस्तान दोस्ती को आगे बढ़ाएंगे।

पाकिस्तान में चीनी राजदूत योआ चिंग ने कहा कि यह बात अभिव्यक्त करती है कि चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा न केवल दोनों सरकारों के बीच एक सहयोग है, बल्कि दोनों देशों के बीच गैर-सरकारी दोस्ताना मेलजोल का आदर्श है। आधुनिक प्रतिभाओं का प्रशिक्षण पाकिस्तान के आर्थिक, सामाजिक विकास के लिये महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

पता चला है कि चीनी सड़क-पुल उद्यम (सीआरबीसी) और पाकिस्तान की उच्च शिक्षा समिति ने पाकिस्तानी छात्रों के लिये यह प्रायोजन कार्यक्रम संयुक्त रूप से किया है। योजना के अनुसार 5 वर्षों में सीआरबीसी पाकिस्तान की संघीय सरकार और प्रांतीय सरकारों के कर्मचारी, तकनीकी कर्मचारी और विश्वविद्यालय स्नातक आदि 100 लोगों को चीन में अध्ययन करने के लिये पूर्ण राशि के रूप में आर्थिक सहायता देगा। यह लोग चीनी विश्वविद्यालयों में 2 साल के मास्टर कार्यक्रम पढ़ेंगे। वर्ष 2017 पहले जत्थे पाकिस्तानी प्रतिनिधियों यानी 10 लोगों ने चीन के दक्षिण-पूर्व विश्वविद्यालय में अध्ययन करना आरंभ किया।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी