भारत ने "अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस" मनाया

2018-09-09 14:33:00

भारत ने गरीब, कमजोर और निराधार लोगों के बीच साक्षरता और शिक्षा फैलाने के लिए शनिवार को "अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस" मनाया।

एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) "साक्षरता भारत" में, समाज के गरीब स्तर से जुड़े बच्चों ने साक्षरता के महत्व पर प्रकाश डालते हुए बैनर और पोस्टर बनाए, और साक्षरता दिवस मनाने के लिए दक्षिण दिल्ली के नेब सराई क्षेत्र में एक रैली निकाली।

दक्षिण दिल्ली के नेब सराई इलाके में एनजीओ के अध्ययन केंद्र के समन्वयक मंजू गौड़ ने सिन्हुआ से कहा कि उनके केंद्र में 4 से 15 वर्ष की आयु के 300 से ज्यादा बच्चे हैं। उन्होंने कहा कि जो बच्चें पढ़ाई में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, उन्हें निजी स्कूलों में डाला जाता है, और उनका एनजीओ ऐसे बच्चों का सभी वार्षिक खर्च, जैसे स्कूल फीस आदि वहन करता है।

दुनिया भर में 8 सितंबर को "अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस" मनाया जाता है। यह साक्षरता के महत्व, या व्यक्तियों, समुदायों और समाजों को पढ़ने और लिखने की क्षमता पर प्रकाश डालता है।

यूनेस्को के आंकड़ों के अनुसार, भारत की वर्तमान साक्षरता दर 72.1 प्रतिशत है। पुरुषों में यह लगभग 80.9 प्रतिशत है, जबकि महिलाओं में 62.8 प्रतिशत है।

(अखिल पाराशर)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी