चीन-रूस कृषि सहयोग हुआ और मजबूत

2018-09-10 11:16:01

चीन-रूस कृषि सहयोग द्विपक्षीय सहयोग का प्रमुख बिंदु बन चुका है। 2017 में चीन और रूस के कृषि उत्पादों का व्यापार 4 अरब अमेरिकी डॉलर को पार कर गया। रूस से चीन में निर्यातित प्रमुख पदार्थ अनाज, आटा और सीफूड आदि हैं, जबकि चीन से रूस में निर्यातित प्रमुख सब्जियां और फल हैं। दोनों देश कृषि पूंजी और कृषि उत्पादकों के प्रोसेसिंग आदि क्षेत्रों में सहयोग के स्तर को निरंतर उन्नत करने में लगे हैं।

इधर के सालों में रूस सरकार ने कृषि का जोरदार विकास किया और नीति बनाकर अनाज उगाने के क्षेत्रफल को निरंतर विस्तृत किया। घरेलू बाजार की आपूर्ति करने के साथ रूस क्रमशः कई सालों से विश्व का सबसे बड़ा गेहूं निर्यात देश बना रहा। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कई बार कहा कि कृषि रूस के आर्थिक विकास का इंजन बन चुकी है।

चीन विश्व का सब से बड़ा कृषि उत्पादक आयात देश है। 2017 के जुलाई माह से 2018 के मई माह तक चीन ने रूस से करीब 12 लाख से ज्यादा टन अनाज व खाद्य पदार्थ आयात किये, जो इतिहास में एक नया रिकॉर्ड है। दोनों देशों के बीच इस संदर्भ में व्यापार रकम में भारी उन्नति होने की बड़ी संभावना है। रूस के पास 30 लाख से ज्यादा हेक्टेयर वाली खेती योग्य भूमि है, जबकि अब सिर्फ दो तिहाई का विकास किया जा चुका है। रूस में कृषि उत्पादन की भारी निहित शक्ति है। जबकि पूंजी, तकनीक और बाजार आदि क्षेत्रों में चीन की स्पष्ट श्रेष्ठता है। चीन और रूस एक दूसरे की आपूर्ति कर सकते हैं। दोनों के बीच कृषि निवेश और कृषि उत्पादकों के प्रोसेसिंग आदि क्षेत्रों में कारगर सहयोग किया है। भविष्य में सहयोग की व्यापक संभावना है।

(श्याओयांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी