2018 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन बैंकॉक वार्ता सम्मेलन संपन्न

2018-09-10 15:11:01

“संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन ढांचागत संधि”के सचिवालय की कार्यकारी सचिव पेट्रीसिया एस्पिनोसा न्यूज़ ब्रीफिंग में भाषण देते हुए

6 दिवसीय 2018 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन बैंकॉक वार्ता सम्मेलन 9 सितम्बर को थाईलैंड में संपन्न हुआ। संधि पर हस्ताक्षर करने वाले 178 देशों और 140 गैर-सरकारी संगठनों ने इसमें भाग लिया। बता दें कि यह सम्मेलन आगामी दिसम्बर में पोलैंड के कटोविस में आयोजित होने वाले 24वें संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन महासभा की तैयारी है।

“संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन ढांचागत संधि”के सचिवालय की कार्यकारी सचिव पेट्रीसिया एस्पिनोसा ने सम्मेलन के बाद कहा कि मौजूदा सम्मेलन में कुछ विषयों पर काफी हद तक प्रगति हासिल की। विभिन्न पक्षों को आने वाले कुछ हफ्तों में वार्ता में गति बढ़ानी चाहिए।

2018 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन बैंकोक वार्ता सम्मेलन संपन्न, जिसमें कुछ विषयों पर प्रगति प्राप्त हुई

गौरतलब है कि 2015 में करीब 200 देशों ने पेरिस में“पेरिस संधि”पर हस्ताक्षर किए, जिससे 2020 के बाद जलवायु परिवर्तन के मुकाबले में वैश्विक व्यवस्था के आम ढांचे को निश्चित किया गया। यह एक कानूनी अंतरराष्ट्रीय संधि है, लेकिन इस दस्तावेज़ के सामने फिर भी कुछ सवाल मौजूद है। आगामी दिसम्बर को संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन महासभा पोलैंड में आयोजित होगी, जिसमें एक मुख्य कार्य पेरिस संधि के ब्यौरे का बंदोबस्त करके इसके कारगर कार्यान्वयन को आगे बढ़ाना है। मौजूदा बैंकॉक सम्मेलन का लक्ष्य विभिन्न पक्षों के बीच सलाह मशविरे को मजबूत करना है।

वार्ता सम्मेलन में भाग लेने वाले चीनी प्रतिनिधि मंडल के अध्यक्ष, चीनी पारिस्थितिकी पर्यावरण मंत्रालय के जलवायु परिवर्तन विभाग के उप प्रमुख लू शिनमिंग ने कहा कि जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने में चीन सरकार का रूख हमेशा स्थिर रहा है और जलवायु परिवर्तन के सक्रिय मुकाबले को आर्थिक सामाजिक विकास के संवर्धन की महत्वपूर्ण रणनीति मानती है। चीन जलवायु बहुपक्षीय प्रक्रिया का दृढ़ समर्थन करता है और विश्व में जलवायु परिवर्तन के मुकाबले में अपना योगदान देने को तैयार है।

(श्याओ थांग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी