डीपीआरके की यात्रा से कोरिया प्रायद्वीप समस्या खत्म होगी – मून जे-इन

2018-09-21 16:07:00

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने 20 सितंबर को डीपीआरके की 3 दिनों की यात्रा की समाप्त कर दक्षिण कोरिया वापस लौटे। सियोल के संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि डीपीआरके की इस यात्रा से दक्षिण-डीपीआरके संबंध बेहतर हुए हैं। डीपीआरके ने कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु मुक्त होने की दृढ़ इच्छा की व्याख्या की। उम्मीद है कि अमेरिका डीपीआरके से वार्ता फिर शुरु करेगा।

मून जे-इन ने कहा कि प्योंगयांग में उन्होंने डीपीआरके के उच्चतम नेता किम जोंग-उन से दोनों मुख्य विषयों पर चर्चा की। पहला विषय कोरियाई प्रायद्वीप के मुक्त होने का विशिष्ट उपाय है, जबकि दूसरा विषय डीपीआरके और अमेरिका के बीच वार्ता फिर शुरु करने को लेकर है।

मून के अनुसार किम को उम्मीद है कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो डीपीआरके की यात्रा जल्दी करेंगे। साथ ही उम्मीद है कि किम अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रम्प से शिखर मुलाकात फिर से करेंगे और परमाणु मुक्ति का सपना जल्दी पूरा करेंगे। आशा है कि अमेरिका डीपीआरके की इस इच्छा और स्थिति के दृषिकोण से समस्या पर विचार करेगा। इसीलिये वे दोनों पक्षों के बीच वार्ता का फिर आयोजन करेंगे।

मून ने कहा कि दक्षिण और डीपीआरके का लक्ष्य वर्ष 2018 के अंत के पहले युद्ध बंदी की घोषणा जारी करना है। दक्षिण कोरिया-अमेरिका शिखर मुलाकात में वे इस घोषणा के संबंधित विषयों पर चर्चा करेंगे। उन्होंने अपील की है कि युद्ध बंदी की घोषणा युद्धि की स्थिति और शत्रुतापूर्ण संबंधों की समाप्ति की राजनीतिक घोषणा है। इसके अलावा युद्ध बंदी की घोषणा शांति समझैते पर वार्ता आंरभ करने के लिये शुरुआती बिंदु है।

(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी