चीन के केन्द्रीय सैन्य आयोग ने अमेरिका के सामने गंभीरता से उठाया मामला

2018-09-23 15:38:00

22 सितंबर को चीनी केंद्रीय सैन्य आयोग के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग कार्यालय के उपमहानिदेशक ह्वांग श्युए फिंग ने चीन स्थित अमेरिकी दूतावास में कार्यवाहक सैन्य अटाची डेविड मेन्सर को बुलाकर अमेरिका द्वारा चीनी केंद्रीय सैन्य आयोग के उपकरण विकास विभाग और इसके प्रधान पर प्रतिबंध लगाये जाने के खिलाफ गंभीरता से मामला उठाया और इसका विरोध भी किया।

ह्वांग श्युए फिंग ने कहा कि चीन और रूस के बीच सैन्य सहयोग दोनों प्रभुसत्ता संपन्न देशों के बीच सामान्य सहयोग है, जो अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुकूल है। अमेरिका ने चीनी सेना के संबंधित विभाग और उच्च स्तरीय अधिकारी पर तर्कहीन प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। यह अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के मानदंडों का सार्वजनिक उल्लंघन है, प्रभुत्ववाद की पूर्ण अभिव्यक्ति है, द्विपक्षीय संबंधों और दोनों देशों की सेनाओं के बीच संबंध को बड़ा नुकसान पहुंचता है, जिसकी कार्यवाही बेहद खराब है। चीन दृढ़ता से इसका विरोध करता है और इसे स्वीकार नहीं करता। गंभीर रुख दिखाने के लिए चीन ने यह फैसला किया है कि अमेरिका में 23वीं अंतर्राष्ट्रीय समुद्री शक्ति संगोष्ठी में भाग ले रहे और अमेरिका की यात्रा करने वाले चीनी नौसेना के कमांडर शेन चिन लोंग को वापस बुलाया जाएगा, 25 से 27 सितंबर को आयोजित होने वाली चीन और अमेरिका की सेना के संयुक्त स्टाफ़ की वार्ता व्यवस्था के दूसरे सम्मेलन को स्थगित किया जाएगा। चीन ने अमेरिका से यह मांग की कि वह तुरंत ही गलती ठीककर संबंधित प्रतिबंध को दूर करेगा। चीनी सेना आगे जवाबी कदम उठाने का अधिकार रखेगी।

(वनिता)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी