चीन ने चीन-अमेरिका व्यापार संघर्ष के तथ्यों और चीन के पक्ष पर श्वेत पत्र जारी किया

2018-09-24 14:10:00

चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने 24 सितंबर को चीन-अमेरिका व्यापार संघर्ष के तथ्यों और चीन के पक्ष में श्वेत पत्र जारी किया। इसका उद्देश्य चीन-अमेरिका व्यापार संबंध के तथ्यों का स्पष्टीकरण देना, चीन-अमेरिका व्यापार संघर्ष पर चीन की नीति का व्याख्या करना और संबंधित सवालों के समुचित समाधान को बढ़ाना है।

36 हजार शब्दों वाला श्वेत पत्र प्रिफेस के अलावा कुल 6 भागों में बंटा हुआ है, जो अलग अलग तौर पर चीन-अमेरिका आर्थिक और व्यापारिक सहयोग का पारस्परिक लाभ और साझी जीत, चीन अमेरिका आर्थिक और व्यापारिक संबंधों के तथ्य ,अमेरिकी सरकार की व्यापार संरक्षणवादी कार्रवाईयां, अमेरिकी सरकार की व्यापार प्रभुत्ववादी कार्रवाईयां, अमेरिकी सरकार के अनुचित कदमों से विश्व आर्थिक विकास को नुकसान और चीनी पक्ष।

श्वेत पत्र में कहा गया है कि चीन विश्व में सबसे बड़ा विकासशील देश है, जबकि अमेरिका विश्व में सबसे बड़ा विकासशील देश है। चीन अमेरिका आर्थिक और व्यापारिक संबंध दोनों देशों के लिए बड़ा महत्व रखता है और विश्व आर्थिक स्थिरता और विकास के लिए गहरा प्रभाव भी डालता है।

श्वेत पत्र में कहा गया कि चीन और अमेरिका के आर्थिक विकास के चरण और आर्थिक व्यवस्थाएं अलग अलग हैं, आर्थिक और व्यापारिक संघर्ष मौजूद होना सामान्य है, इसका कुंजीभूत सवाल ये है कि पारस्परिक विश्वास और सहयोग कैसे बढ़ाया जाए और मतभेदों को कैसे नियंत्रित किया जाए। लंबे अरसे से दोनों पक्षों ने समानता, विवेकपूर्ण और एक साथ आगे बढ़ने के सिद्धांत पर कायम रहकर चीन-अमेरिका वाणिज्य और व्यापार संयुक्त समिति, रणनीतिक आर्थिक वार्तालाप, रणनीति और अर्थतंत्र वार्ता, सर्वांगीण आर्थिक वार्ता समेत संपर्क और समन्वय तंत्र स्थापित किये। इधर 40 वर्षों में दोनों पक्षों ने अथक कोशिश कर विभिन्न बाधाएं दूर कर चीन अमेरिका आर्थिक और व्यापारिक संबंधों के निरंतर विकास को सुनिश्चित किया।

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी