चीन के किसी भी कानून और नीति में विदेशी उद्यम को मजबूर कर तकनीक हस्तांतरिक कराने की मांग नहीं है

2018-09-27 17:02:00

चीन सरकार द्वारा हाल ही में चीन-अमेरिका व्यापार युद्ध पर जारी श्वेत पत्र में बल दिया गया कि दो पक्षों के स्वैछिक सौदे को मजबूरन तकनीकी हस्तांतरण के रूप में विकृत करना तथ्यों के विरुद्ध और कंट्रेक्ट भावना के साथ विश्वासघात करना भी है। चीनी विशेषज्ञ ने सीआरआई को दिये साक्षात्कार में कहा कि चीन के किसी भी कानून और नीतिगत दस्तावेज़ में विदेशी उद्यम को मजबूर कर तकनीकी हस्तांतरिक कराने की मांग नहीं है। देशी विदेशी उद्यमों का तकनीकी सहयोग और अन्य व्यापारिक सहयोग पूरी तरह स्वेच्छा पर आधारित है। दोनों ने इसमें व्यावहारिक लाभ प्राप्त किया है।

चीनी इलेक्ट्रॉनिक उद्योग विकास अनुसंधान संस्था के उपप्रमुख वांग पंग ने बताया कि चीन सरकार पर विदेशी उद्यमों को मजबूर कर तकनीकी हस्तांतरण कराने का आरोप निराधार है। वह सिर्फ अमेरिका द्वारा संघर्ष छेड़ने का बहाना है। पहले, चीन के कानून और सरकारी दस्तावेजों में विदेशी उद्यम को तकनीकी हस्तांतरण कराने का विषय नहीं है। दूसरा, विदेशी उद्यम और चीनी साझेदार के बीच मौजूद तकनीकी हस्तांतरण वाणिज्यिक गतिविधि है, जिसमें सरकार का हस्तक्षेप मौजूद नहीं है। तीसरा, अगर चीनी उद्यम तकनीकी हस्तांतरण पाना चाहता है, तो उसे बड़ी धनराशि चुकानी होगी। कई वर्षो में चीन स्थित अमेरिकी उद्यमों को तकनीकी हस्तांतरण और परमिट से विशाल लाभ मिला है। (वेइतुंग)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी