चीन की सहायता में निर्मित होने वाली श्रीलंकाई जल तकनीक अनुसंधान और प्रदर्शन संयुक्त केंद्र परियोजना शुरू

2018-09-29 16:02:02

28 सितंबर को चीन की सहायता में निर्मित होने वाली श्रीलंकाई जल तकनीक अनुसंधान और प्रदर्शन संयुक्त केंद्र परियोजना की शुरुआत रस्म मध्य श्रीलंका के कैंडी के पेराडेनिया विश्वविद्यालय में आयोजित हुई।

इस समारोह में श्रीलंका के शहर योजना और जल आपूर्ति मंत्री रऊफ़ हकीम ने कहा कि इस योजना के निर्माण की शुरूआत ने श्रीलंका में अस्पष्ट कारण से पैदा किडनी रोग का अध्ययन और सुरक्षित पेयजल पर तकनीकी अनुसंधान की मजबूत नींव डाली है। उम्मीद है कि इस परियोजना का निर्माण शुरू होने के मौके पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में श्रीलंका और चीन के बीच सहयोग को बढ़ावा मिलेगा।

चीनी विज्ञान अकादमी के उप प्रमुख होउ च्यान गुओ ने कहा कि श्रीलंका के जल पर तकनीकी अनुसंधान और प्रदर्शन की संयुक्त केंद्र परियोजना विदेश में चीनी विज्ञान आकादमी द्वारा निर्माण करने वाला 9वां तकनीकी अध्ययन केंद्र है। इस केंद्र की स्थापना स्थानीय अस्पष्ट सीकेडी और पेयजल की सुरक्षा मुद्दों को हल करने का योगदान करेगी।

चीन थीएसचू सिविल इंजीनियरिंग ग्रुप (सीटीसीई ग्रप) इस केंद की सहायता और निर्माण की जिम्मेदारी लेता है। इस केंद्र का कुल निर्माण क्षेत्र लगभग 5000 स्क्वायर मीटर होगा, जिसमें रिसर्च व्यापक भवन और विशेषज्ञ अपार्टमेंट भी शामिल होंगे। इस केंद्र की स्थापना के बाद चीन श्रीलंका को जल गुणवत्ता विश्लेषण मंच (Water quality analysis platform) और जल उपचार पर 100 से अधिक प्रायोगिक उपकरण प्रदान करेगा।

उस दिन चीनी एकेडमी ऑफ साइंसेज विश्वविद्यालय (यूसीएएस)- पेराडेनिया विश्वविद्यालय शिज्ञा और अध्ययन संयुक्त केंद्र स्थापित हुआ।(हैया)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी