चीनी लोगों की अंदरूनी प्रतिस्पर्धा क्षमता

2018-10-02 16:05:00

चीनी लोग हमेशा से मेहनती को अपनी परंपरा समझते हैं। आधुनिक युग के मशहूर चीनी लेखक लू शून ने कहा था कि मैं उस समय भी काम पर रहता हूँ, जब दूसरे लोग कॉफी पीते रहते हैं।

बीते चालीस सालों में चीन ने असाधारण प्रगतियां हासिल की हैं, जिसका श्रेय चीनी जनता की मेहनत को जाता है। चीनी लोगों ने अपने अथक प्रयासों से अपने समाज और देश में परिवर्तन किया है। लेकिन उधर कुछ विदेशी मीडिया ने इस बात पर चीनी पूंजी निवेशकों की आलोचना की है कि वे विदेशों के मुद्दों में अकसर अपने देश के मजदूरों का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन ये तथ्य मौजूद है कि केवल चीनी मज़दूर किसी भी समय ओवरटाइम काम कर सकते हैं, और चीनी मजदूर अवधि और गुणवत्ता की गारंटी दे सकते हैं।

फाइनेंशियल टाइम्स (Financial Times) के एक आलेख में कहा गया है कि चीनी कारोबारों के उच्च स्तरीय प्रबंधक आम तौर पर सुबह आठ बजे से रात के दस बजे तक काम करते हैं। उनमें कुछ लोग एक हफ्ते में सात दिनों के लिए काम करते हैं। उधर चीनी सरकार में कार्यरत कर्मचारी भी अत्यंत मेहनत से ड्यूटी निभाते हैं। रॉयटर ने 2018 एडेलमैन ट्रस्ट बैरोमीटर (Edelman Trust Barometer) के हवाले से यह रिपोर्ट दी है कि चीन में आम लोगों में सरकार के प्रति विश्वास दर 84 प्रतिशत तक जा पहुंची है, जबकि उच्च शिक्षित लोगों में यह अनुपात 89 प्रतिशत रही है। चालीस सालों के प्रयास से चीन विश्व का दूसरा बड़ा अर्थतंत्र बना है। चीन में विश्व में सबसे पूर्ण औद्योगिक प्रणाली, सबसे बड़ा ऑटोमोटिव बाज़ार और अग्रणी ई-कॉमर्स व्यवस्था प्राप्त हुई हैं। इन प्रगतियों के पीछे आम चीनी लोगों की मेहनत ही है।

आज चीनी सरकार ने भी लोगों के विश्राम अधिकार की गारंटी के लिए कानून बनाया है। लेकिन चीनी लोग मेहनत की यह परंपरा कभी छोड़ेंगे नहीं।

( हूमिन )

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी