ऊर्जा, अंतरिक्ष व रक्षा क्षेत्र में सहयोग बढ़ाएंगे भारत और रूस

2018-10-05 15:04:00

भारत और रूस ऊर्जा, अंतरिक्ष व रक्षा क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने जा रहे हैं। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन की भारत यात्रा के दौरान दोनों पक्ष बहुप्रतीक्षित 5 अरब डॉलर वाले 5-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे।

माना जा रहा है कि दोनों पक्षों के बीच शुक्रवार को कई अहम सहयोग समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे। जिसमें अंतरिक्ष सहयोग तंत्र पर दस्तखत भी शामिल हैं। ध्यान रहे कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि भारत 2022 तक चंद्रमा में मानव को भेजेगा। इस तरह इस मिशन में भारत को रूस की मदद की जरूरत है।

इसके साथ ही भारत और रूस ऊर्जा के क्षेत्र में भी अच्छे सहयोगी हैं। जहां एक ओर भारत ने रूस के ऊर्जा सेक्टर में काफी निवेश किया है। भारत की ओएनजीसी विदेश रूस के पूर्वी इलाके में अपनी पहुंच बढ़ा रही है। वहीं रूस भारत की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में अहम भूमिका निभाता है, वह भारत को गैस की आपूर्ति करने वाला प्रमुख देश है। साल 2017 में रूस से भारत के ऊर्जा संबंधी आयात में दस गुना इजाफा हुआ।

गौरतलब है कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन गुरुवार को दो दिवसीय भारत दौरे पर दिल्ली पहुंचे। पुतिन इस दौरान भारत और रूस के बीच 19वीं द्विपक्षीय शिखर बैठक में भी हिस्सा लेंगे।

(अनिल आजाद पांडेय)

न्यूज़ व्यापार पर्यटन बाल-महिला स्पेशल विश्व का आईना चीनी भाषा सीखें वीडियो फोटो गैलरी